उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Dhoni
Dhoni|DNA
क्रिकेट

लक्ष्मण का अपनी बुक में खुलासा - खुद बस चलाकर टीम इंडिया को होटल लेकर गए थे धोनी

लक्ष्मण ने लिखा कि धोनी को बस चलाते देखकर मेरी आंखों को भरोसा नहीं हुआ, टीम का कप्तान हमें बस में बैठाकर मैदान से होटल तक ले गया था.  

Suraj Jawar

Suraj Jawar

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी यूं तो अपने शांत और सरल स्वभाव के लिए जाने जाते हैं. लेकिन जब भी मौका मिलता है तब मैदान के बाहर हों या भीतर वो कुछ ऐसा करते हैं जो सुर्खियों में आ जाता है. हालांकि धोनी का ये किस्सा 10 साल पुराना है लेकिन इसका खुलासा अब हो रहा है.

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने अपनी किताब में धोनी से जुड़ा ऐसा किस्सा बताया है जो उनकी मौज-मस्ती और हरफनमौला अंदाज से जुड़ा है. लक्ष्मण ने 2008 के इस किस्से को याद करते हुए अपनी किताब में लिखा कि जब नागपुर में उन्होंने अपना 100वां टेस्ट खेला था तब धोनी मैदान से खुद बस चलाकर टीम को होटल तक ले गए थे, उस दौरान धोनी तीनों फॉर्मेट की कप्तानी कर रहे थे. इसी मैच में पूर्व दिग्गज स्पिनर अनिल कुंबले ने क्रिकेट से संन्यास का एलान भी किया था.

लक्ष्मण ने लिखा कि धोनी को बस चलाते देखकर मेरी आंखों को भरोसा नहीं हुआ, टीम का कप्तान हमें बस में बैठाकर मैदान से होटल तक ले गया था. यह कुंबले के संन्यास के बाद बतौर कप्तान धोनी का पहला टेस्ट मैच था और उन्हें दुनिया की कोई फिक्र नहीं थी. धोनी कभी भी रोमांचक पलों को जीना नहीं छोड़ते और मैं धोनी जैसे किसी भी खिलाड़ी से आजतक नहीं मिला हूं.

धोनी के बारे में लिखते हुए लक्ष्मण ने यह भी बताया कि वह हमेशा शांत रहते थे, भले ही टीम खराब प्रदर्शन क्यों न करे. लक्ष्मण 2011 की इंग्लैंड सीरीज को याद करते हैं, जब टीम इंडिया मुश्किल में थी, लेकिन धोनी ने कभी भी अपना आपा नहीं खोया. भारत ने 4-0 से वो सीरीज गंवाई थी और उसके बाद हम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी शुरुआती 3 टेस्ट हार चुके थे, इस सबके बावजूद भी धोनी शांत रहे जबकि बाकी खिलाड़ियों में निराशा और हताशा का भाव था.

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।