महेंद्र सिंह धोनी और ऋषभ पंत
महेंद्र सिंह धोनी और ऋषभ पंत|Google
क्रिकेट

‘अगर मुझे कोई भी परेशानी होती है तो मैं धोनी से साझा करता हूं’ -ऋषभ पंत 

पंत ने अपने रेकॉर्ड को लेकर कहा, “मैंने कभी रिकॉर्ड के बारे में नहीं सोचा लेकिन अपने नाम के आगे कुछ कैच लिखवाना अच्छा है।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली: आस्ट्रेलिया के साथ खेले गए पहले टेस्ट मैच में शानदार रिकॉर्ड अपने नाम करने वाले युवा विकेटकीपर ऋषभ पंत ने अपनी इस सफलता का श्रेय पूर्व टेस्ट कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को देते हुए कहा है कि उन्हें धोनी से बहुत कुछ सीखने को मिला है।

आईसीसी (ICC) की वेबसाइट के अनुसार, पंत एडिलेड में एक टेस्ट मैच में सबसे अधिक 11 कैच पकड़ने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर बने हैं। उन्होंने साथ ही इंग्लैंड के जैक रसेल और दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स के रेकॉर्ड की भी बराबरी की, जिनके नाम एक मैच में सर्वाधिक कैच लेने का रिकॉर्ड था।

पंत ने बीसीसीआई (BCCI) टीवी से कहा, "अगर मुझे कोई भी परेशानी होती है तो उसे मैं उनसे (धोनी ) साझा करता हूं और वह तुरंत ही उसका समाधान बता देते हैं। जब भी वह आसपास होते हैं तो मैं एक व्यक्ति के तौर पर खुद को आत्मविश्वास से भरा पाता हूं। मैंने एक इंसान और एक क्रिकेटर के रूप में उनसे काफी कुछ सीखा है।"

गौरतलब है कि धोनी ने पिछली बार आस्ट्रेलिया दौरे पर गई भारतीय टीम के दौरे के बाद टेस्ट से संन्यास ले लिया था। लेकिन वह अभी भी सीमित ओवरों में खेल रहे हैं और सीमित ओवरों के लिए टीम में जगह पाने के लिए पंत को धोनी से मुकाबला करना पड़ा रहा है।

एडिलेड मैच में कैचों का एक नया विश्व रिकॉर्ड भी बना है, जिसमें कुल 35 कैच लिए गए। इससे पहले, आस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच इसी साल खेले गए मैच में 34 कैच लिए गए थे।

पंत ने अपने रेकॉर्ड को लेकर कहा, "मैंने कभी रेकॉर्ड के बारे में नहीं सोचा लेकिन अपने नाम के आगे कुछ कैच लिखवाना अच्छा है। उपलब्धि हासिल करना अच्छा है लेकिन मैं इस बारे में ज्यादा नहीं सोच रहा हूं।"

--आईएएनएस

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com