Paytm vs Phonepe
Paytm vs Phonepe|Google
वायरल बुलेटिन

Paytm ने PhonePe को यस बैंक की हालत पर मारा ताना ! 

वो कहते है न कि जब वक्त खराब होता है तो जंगल का राजा शेर भी असहाय हो जाता है और उसे सियार घेर लेते हैं। कुछ ऐसा ही यूपीआई की दुनिया मे तहलका मचाने वाले फोनपे के साथ हो रहा है। 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

यूपीआई मार्केट में चालीस प्रतिशत के आसपास अपनी मौजूदगी रखने वाले फ़ोनपे पर यस बैंक के ताजा हालातों के कारण अपनी हालत खस्ता होने के बावजूद पेटीएम ने ताना मार दिया। शब्दावली कुछ इस तरह थी:

प्रिय फोनपे,पेटीएम बैंक के यूपीआई प्लेटफार्म पर आप आमंत्रित है, पेटीएम सबको अपनाता है, और आपके काम को भी बिना रोके हुए आगे बढ़ा सकता है। आपको संभाल सकता है। हम आपको दुरुस्त कर सकते है बस आप हमें मौका दीजिये। 

हमने पेटीएम द्वारा अंग्रेजी भाषा मे लिखे गए ट्वीट को आम बोल चाल की भाषा मे लिखने का प्रयास किया है, हालांकि असल ट्वीट कुछ इस तरह है पढ़ लीजिये:

हालांकि मौके की नजाकत को भांपते हुए फोनपे ने भी एक करारा जवाब दिया जिसकी लगातार तारीफे हो रही है। फ़ोनपे ने बिल्कुल हिंदी फिल्म के डायलॉग पुरोधा प्राण की स्टाइल में लिखा बरखुरदार ( ये हमने मजाक में जोड़ दिया है)।

प्रिय पेटीएम बैंक अगर आपका यूपीआई इत्ता अच्छा ही होता तो हम आपसे खुद बोल देते की "जा सिमरन जा जी ले अपनी जिंदगी "(हमने इसे भी जोड़ा है) हम आपको खुद अपने बिजनेस को संभालने की जिम्मेदारी दे देते, संकट के वक्त अपने साथियों से अलग होकर तेजी किस काम की। हम जल्द ही तेजी से वापस हो रहे है, फार्म अस्थायी है,लेकिन क्लास स्थायी है।

फोनपे का ओरिजिनल ट्वीट अंग्रेजी में पढ़ लीजिये:

इसके बाद यह मामला यहीं तक सीमित नहीं रहा, बल्कि दोनो प्लेटफार्म के पेमेंट यूजर इस पर अपनी बात रखते हुए नजर आए। लोगों ने मीम्स का सैलाब ला दिया।

बुलाती है मगर जाने का नही......

इस मामले की वजह क्या थी :

सीधी-साधी वजह थी, इस वक्त देश के निजी क्षेत्र के महत्वपूर्ण बैंक यस बैंक पर संकट की घड़ी है और फोनपे को यस बैंक ही ऑपरेट करता है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com