bishop scott school patna viral video
bishop scott school patna viral video|Screenshot from Viral Video
वायरल बुलेटिन

पटना में निजी स्कूलों की गुण्डागर्दी, स्कूल फीस के साथ-साथ वाहन समेत अन्य फीसों की हो रही वसूली

एक अभिवावक द्वारा रिकार्ड किये गए वीडियो को देखने पर ऐसा लगता है कि ये कोई स्कूल नहीं बल्कि लोन रिकवरी एजेंट है, जिनका उद्देश्य अभिभावकों से फीस वसूली ही नहीं बल्कि उन्हें धमकी देना भी है।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

पटना के स्कूल का है मामला:

मामला पटना बिहार के बिशप स्कॉट गर्ल्स स्कूल से जुड़ा हुआ है जहां पर लॉकडाउन के वक्त अभिवावकों से भारी मात्रा में फीस उगाही का मामला सामने आया है। आरोपों के अनुसार स्कूल प्रशासन छात्र-छात्राओं के ऊपर कड़ा मानसिक दबाव बना रहा है और सरकार द्वारा जारी किए गए दिशा निर्देशों को ताक पर रखकर काम कर रहा है। एक अभिवावक द्वारा रिकार्ड किये गए वीडियो में साफ-साफ नजर आता है कि स्कूल प्रशासन हर हालत में पूरी फीस वसूल करना चाहता है।

पटना के Bishop Scott Girl's School में लॉकडाउन के दौरान के फीस के लिए जबरन वसूली का पेरेंट्स पर दबाव बनाया जा रहा है...

Posted by Youth Of Patna on Saturday, June 20, 2020

स्कूल वाहन चले नहीं फिर भी फीस चाहिए:

मामले को लेकर परिजन इस बात पर अड़े है कि जब स्कूल खुला नहीं और बच्चे स्कूल नहीं गए तो वसूली जाने वाली फीस में अनावश्यक फीस जैसे वाहन फीस, लाइब्रेरी फीस, रखरखाव फीस और इसके जैसे तमाम अन्य अनावश्यक फीसों का समावेश करके अवैध वसूली क्यों की जा रही है। इस मामले में सरकार ने पहले ही दिशा निर्देश जारी किए थे कि किसी भी हालत में लॉकडाउन के वक्त स्कूल के द्वारा विद्यार्थियों और परिजनों पर फीस वसूली का दबाव न डाला जाए लेकिन अभिवावकों ने इस बात का खुलासा किया कि हमारे मोबाइल पर लगातार स्कूल के मैसेज आते रहे जिसके जरिये सब पर यह दबाव बनाया जाए कि हर हालत में फीस वसूली जा सके।

वीडियो पर बवाल:

एक अभिवावक जब इस अवैध फीस बसूली को लेकर स्कूल प्रसाशन से बात करने गए और मामले की गंभीरता को देखते हुए वीडियो बनाने लगे तो स्कूल की प्रिंसिपल साहिबा (मदर) का पारा हाई हो गया और स्कूल के एक कर्मचारी को बुलाकर बच्ची को स्कूल में पढ़ाने को लेकर धमकी दी जाने लगी और प्रिंसिपल ने झपट कर अभिवावक का मोबाइल छीन लिया।

अगर स्कूल प्रिंसिपल के हाव-भाव को देखे तो कहीं से भी यह नजर में नही आता कि प्रिंसिपल के मन मे कानून और सरकारी आदेशों की अवमानना का भय है। वैसे भी बिहार शिक्षा में तमाम प्रकार के आरोप लगते रहे उस पर पैसे लेकर टॉपर बनाने से लेकर कई बार मामले उठ खड़े हुए है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com