उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
लोगों का महिलाओं को घूरना
लोगों का महिलाओं को घूरना|गूगल  
लाइफस्टाइल

एक सवाल, कौन सी एक बात से आप भारतीय होने पर शर्मिंदगी महसूस करते हैं ?

आप भारत में हो या विदेशों में, भारतवासियों की कौन सी चीज आपको नापसंद है, जवाब दें, हम यहाँ कुछ उदाहरण पेश कर रहे हैं। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

भारत अपनी प्राचीन संस्कृति और सभ्यता के लिए लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है। लोगों की मान्यता है की हम भारतीय शान्तिप्रिये होते है। हमें झगड़े झंझट में पड़ना पसंद नहीं होता। दुनिया के अन्य देशों से हमारे ताल मेल भी अच्छे हैं। हमने कभी किसी देश पर पहले करवाई नहीं की। इन सब खूबियों के बाद भी हम भारतियों की कुछ खामिया हैं। आप भारत में हो या विदेशों में, भारतवासियों की कौन सी चीज आपको नापसंद है, सुझाव दें, हम यहाँ कुछ उदाहरण पेश कर रहे हैं।

जाति प्रथा:

जहाँ हम दूसरे देशों पर आतंकवाद और नश्लवाद का आरोप लगते हैं। वहीं हम खुद अपने देश के लोगों से जाति के आधार पर भेदभाव करते हैं। हमें यह सोच कर बहुत दुःख होता है। कई बार हम खुद व्यक्तिगत रूप से इसका घिनौना रूप को देख चुके हैं। बावजूद हम बाज नहीं आते। चुनाव के दौरान जात-पात की दिवार और भी बढ़ जाती है। इसका कारण नेता है। जो जात के नाम पर हमें बहकाते हैं और हमारी भावनाओं के साथ खेलते हैं।

जाति प्रथा
जाति प्रथा
गूगल  

क्षेत्रीय भावना :

हम भारत में रहे या विदेशों में हम भारतीय हैं और हमेसा रहेगें। लेकिन आज हमारा देश राज्यों में बटा हुआ है। कोई गुजरती है तो कोई मराठी , कोई UP वाला है तो कोई बिहार का, कोई राजस्थान का है तो कोई तमिलनाडु का, कोई नागालैंड का तो कोई कश्मीर का। अरे पहले भारत का तो बनो, बाद में अपने राज्य का बन जाना। हमें जरुरत है भारतीय बनने की। हमारे देश में क्षेत्रीय दंगो के बढ़ने का कारण भी यही है। गुजरात में उत्तर प्रदेश के लोगों को मारा जाता है तो कभी महाराष्ट्र में बिहारियों को। हम भारतीय हैं, यही हमारी पहचान है।

क्षेत्रीय भावना
क्षेत्रीय भावना
गूगल  

लैंगिक आधार पर गर्भपात :

हमारे देश में माँ दुर्गा, काली और लक्ष्मी की पूजा होती है, लड़कियों को माता का रूप मन जाता है। बावजूद देश में ऐसी मानसिकता वाले लोग भी हैं जिन्हें लड़कियों को मरने में मज़ा आता है। बलात्कार करते हैं। ऐसी मानसिकता वाले लोगों से घिन आना लाजमी हैं जो बेटों की चाहत में बेटी को मार देते हैं।

लैंगिक आधार पर गर्भपात
लैंगिक आधार पर गर्भपात
गूगल  

दहेज़ प्रथा:

जी हाँ, हम विकासशील देश हैं , आपने सही पढ़ा। इसके बावजूद अभी तक हम हमारे समाज में दहेज़ नाम के कैंसर को ख़त्म नहीं कर पाए हैं। शर्म की बात है जब एक लड़की को दहेज़ के लिए जला दिया जाता है। शर्म की बात है की हमारे देश को खुशहाल देशों की सूची में 133वें स्थान पर जगह मिलती है।

दहेज़ प्रथा
दहेज़ प्रथा
गूगल  

लोगों का महिलाओं को घूरना:

हमारा देश महिलाओं को घूरने का बड़ा ही चलन है। देशी हो या विदेशी लोग महिलाओं को सार्वजनिक स्थानों में ऐसे देखते है जैसे कोई अनहोनी या विचित्र प्रजाति। एक विदेशी महिला से मुलाकात हुए, मैंने पूछा भारत कैसा लगा ? बोलीं इंडिया बहुत ही खूबसूरत देश है लेकिन वे जहां जहां गयीं उनको लोग गन्दी नज़रों से घूरते थे। हम ये नहीं कहते की सब ऐसे हैं लेकिन बहुत लोग ऐसे हैं। इस बात को सुनकर हमको एक भारतीय नस्ल के होने पर शर्मिंदगी महसूस हुई। हमने देखा है की यह सिर्फ विदेशी लड़कियों के साथ ही नहीं बल्कि खुद अपने देश की लड़कियों के साथ होता है।

लोगों का महिलाओं को घूरना
लोगों का महिलाओं को घूरना
गूगल