उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Mallika Sherawat Fitness
Mallika Sherawat Fitness|Google
लाइफस्टाइल

मल्लिका शेरावत ने साझा किए डायट और फिटनेस टिप्स। 

मल्लिका शेरावत की फिटनेस का राज है अयंगर योग

Uday Bulletin

Uday Bulletin

बॉलीवुड अभिनेत्री मल्लिका शेरावत को देखकर किसी को भी यह महसूस हो सकता है कि उम्र महज एक संख्या है। अपनी इस खूबसूरत काया के बारे में खुलासा करते हुए मल्लिका ने कहा कि ऐसा स्वास्थ्यवर्धक भोजन और अयंगर योग की वजह से है। मल्ल्किा पिछले कुछ समय से नियमित तौर पर इंस्टाग्राम पर अयंगर योग करने की अपनी तस्वीरें और वीडियो साझा करती आ रही हैं।

43 वर्षीय मल्लिका शेरावत ने कहा, “मैं पिछले पांच-छह सालों से अयंगर योग का अभ्यास कर रही हूं। मुझे यह काफी पसंद है क्योंकि यह शरीर के अलाइनमेंट पर आधारित है और यह आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी काफी अच्छा है। यह एक प्रकार से ध्यान की तरह है जिससे तनाव से मुक्ति मिलती है और शरीर में सकारात्मक उर्जा का संचार होता है, जो मुझे बहुत अच्छा लगता है। अयंगर योग करने की यही खास वजह है। इससे प्राप्त शारीरिक लाभ दूसरे नंबर पर आता है।”

उन्होंने अयंगर योग के लाभों के बारे में कहा, “मुझे शांति महसूस होती है, यह मानसिक तौर पर आपको सशक्त बनाता है। आप किसी भी चीज का सामना कर सकते हैं। मैं अकसर सफर करती रहती हूं और मुझे लंबे समय तक की उड़ान पसंद नहीं है, तो जब भी कभी मैं दस घंटे की लंबी उड़ान ले रही हूं, तो मैं काफी परेशान हो जाती हूं, लेकिन मैंने महसूस किया कि अयंगर योग से मुझे इसमें मदद मिली है।”

अपनी बात को जारी रखते हुए उन्होंने आगे कहा, “इससे मुझे खाने की तीव्र इच्छा पर भी अंकुश लगाने में मदद मिली है। मुझे मीठा बहुत पसंद था, लेकिन जब से मैंने अयंगर योग शुरू किया है तब से इसे खाने की इच्छा भी दूर हो गई है। जिस दिन मैं इनका अभ्यास करती हूं उस दिन मुझे गहरी नींद भी आती है। मेरी रोजमर्रा की जिंदगी में इन छोटी-छोटी चीजों से काफी मदद मिली है।”

अपने खान-पान के बारे में अभिनेत्री ने बताया, “मैं हमेशा से ही शाकाहार थी और पिछले दस सालों से मैं वेगन (पशुओं से प्राप्त किसी भी खाद्य सामग्री का उपयोग न करना) हूं। मैं दुग्ध उत्पादों का भी इस्तेमाल नहीं करती हूं। खान-पान की मेरी शैली बेहद ही साधारण है, ज्यादातर मैं ‘घर का खाना’ खाती हूं। मुझे लगता है कि यह सबसे स्वास्थ्यवर्धक चीज है। मेरा मानना है कि हमारे दादा-दादी या नाना-नानी असली भोज्य पदार्थो का इस्तेमाल करते थे जिनमें पोषण की भरपूर मात्रा होती थी। अब तो बस प्रदूषण और कीटनाशक ही है, खाने की गुणवत्ता भी कम हो गई है, ऐसे में हम जो कुछ भी खाते हैं उसमें सावधानी बरतने की जरूरत है।”

मल्लिका ने अंत में अपने प्रशंसकों के लिए कहा कि एक स्वस्थ शरीर और मन के लिए कसरत बेहद जरूरी है। आप इसे कभी भी शुरू कर सकते हैं। अगर आप इसे कल से करने की सोच रहे हैं, तो आज ही करना शुरू कर दें।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।