उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
बाँदा जिलाधिकारी हीरालाल ने ख़रीदे मिट्टी के बर्तन।
बाँदा जिलाधिकारी हीरालाल ने ख़रीदे मिट्टी के बर्तन।|ट्विटर
लाइफस्टाइल

हस्तशिल्प के आयोजन में मर्तिकापात्र को दी वरीयता, डीएम बोले लौटो प्रकृति की गोद मे  

कुम्हारों द्वारा बनाये जाने वाले बर्तन हस्तशिल्प यानी कॉटेज इंडस्ट्रीज में आते है। इसलिए डीएम ने मिट्टी से बने बर्तन और प्राकृतिक वस्तुओं की ओर लौटने की बात कही है।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

Summary

बाँदा जिलाधिकारी इस समय बेहद मूड में है कभी वह किसानों के खेतो में जाकर धान काटने जैसा जटिल काम करते नजर आ रहे है तो कभी बुंदेलखंड विकाश बोर्ड के गठन की समीक्षा, बाँदा डीएम ने बाँदा को नंबर एक पर लाने का लक्ष्य रखा है।

सिंगल यूज प्लास्टिक को ना, मिट्टी को हाँ :

बाँदा जिलाधिकारी हीरालाल ने हस्तशिल्प आयोजन में पूरे जिले के साथ-साथ पूरे देश को मिट्टी से जुड़े रहने का संदेश दिया साथ ही सिंगल यूज प्लास्टिक को हटाकर मिट्टी से बने पात्रों, बोतल, गिलास, प्याली, कटोरी, थाली, और अन्य बहुप्रयोग समाग्री जैसे कढ़ाई, तवे इत्यादि के प्रयोग की सलाह दी।

जिलाधिकारी ने इसकी शुरुआत सबसे पहले अपने कार्यालय के प्रयोगार्थ बोतल, गिलास और प्यालियों की खरीददारी की।

डिंगवाहि में किसानों के साथ काटे धान :

किसानों के साथ खड़े रहने की कोशिश में डीएम हीरालाल ने शहर मुख्यालय के करीब 12 किमी दूर स्थित गांव डिंगवाहि में जाकर खड़े खेत मे धान काटे, जिलाधिकारी को अपने बीच पाकर किसान बेहद खुश नजर आए, जिलाधिकारी ने किसानों की समस्याओं का हाल जाना तथा सम्बंधित अधिकारियों को यथोचित निर्देश दिए।

बुंदेलखंड विकाश बोर्ड का केंद्र होगा बाँदा :

बीते दिन जिलाधिकारी ने कृषि विश्वविद्यालय पहुँच कर स्थितियों का जायजा लिया, इस मौके पर हीरालाल ने संवाददाताओं को बताया कि बाँदा बुंदेलखंड विकास बोर्ड का केंद्र बनाया जाएगा।