पेड रिव्यू पर क्या कहेगा फ्लिपकार्ट? बहुत लंबा है जाल

पेड रिव्यू उपभोक्ताओं को बहकाने और फुसलाने का बहुत मुफीद हथियार है, लेकिन मशक्कत यह है कि सब जानने के बाद भी लोग इसे कहने से कतराते हैं क्योंकि ऐसा कोई भी बवाल होने पर कंपनी अपना पल्ला झाड़ लेती है।
पेड रिव्यू पर क्या कहेगा फ्लिपकार्ट? बहुत लंबा है जाल
Flipkart Paid ReviewScreenshot (Nitish Ojha Facebook Post)

हेयर ऑयल है या स्मार्टफोन?

मामला एक सो काल्ड वालों को बढ़ाने वाले तेल के विज्ञापन और उसके रिव्यू (Flipkart Paid Reviews) से जुड़ा हुआ है, जिसमें उपभोक्ता द्वारा यह बताया गया है कि इस तेल का कैमरा बेहद उच्च गुणवत्ता युक्त है इस तेल का फेस अनलॉक और फिंगरप्रिंट सेंसर बेहद तेजी से काम करता है। इस स्क्रीनशॉट को फेसबुक यूजर नीतीश ओझा नामक उपयोगकर्ता के द्वारा पोस्ट किया गया है साथ मे वह लिंक भी शेयर किया गया है जिसमे यह रिव्यू भी पढ़ने को मिलता है।

क्या है इसके पीछे की कहानी?

अगर सूत्रों की माने तो ऑनलाइन शॉपिंग कंपनियों के द्वारा उत्पादों की बिक्री बढ़ाने के लिए थर्ड पार्टी की मदद से पैसे देकर रिव्यू कराए जाते हैं ताकि उत्पादों की विश्वनीयता बढ़े और लोग इन रिव्यू को देखकर उत्पाद की आंख मूंद कर खरीददारी कर ले। हालांकि इन उत्पादों से लोगों को कितना लाभ हो रहा है इसके बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है।

क्या हो सकता है इस रिव्यू का मतलब?

अब अगर कोई व्यक्ति वो हेयर ऑयल खरीदता है जो बालों को लंबा करने का दावा करता है तो उसके रिव्यू उसी से संबंधित होने चाहिए लेकिन इस रिव्यू में जो दावे किए जा रहे है वो किसी स्मार्टफोन के लक्षण हैं। लोगों का मानना है कि दरअसल यह पेड रिव्यू का बेहतरीन उदाहरण है। लोगों द्वारा यह कहा जा रहा है कि पेड रिव्यू लिखते समय भूलवश इस रिव्यू को यहां डाल दिया गया है। हमने इस मामले पर फ्लिपकार्ट से इस संबंध में जानकारी लेनी चाही लेकिन अभी तक कोई समुचित जवाब नहीं मिला है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com