गुड्डू पंडित के पापा ने बताया कि मिर्जापुर के लिए ऑडिशन कैसे हुआ था

रमाकांत पंडित उर्फ़ राजेश तैलंग ने ट्विटर पर शेयर किया मिर्जापुर के ऑडिशन का वीडियो
गुड्डू पंडित के पापा ने बताया कि मिर्जापुर के लिए ऑडिशन कैसे हुआ था
web series mirzapur actor auditionTwitter

भारतीय सिनेमा में रुचि रखने वालों में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जो मिर्जापुर के नाम से वाकिफ न हो, दरअसल यह सिनेमा वेब कंटेंट के नाम से जाना जाता है और वर्तमान समय में मिर्जापुर वेब सिरीज भारत की बेहद चर्चित वेबसिरीज बन चुकी है, इस वेबसिरीज से जुड़े हुए सभी कलाकार अपने चरित्रों के साथ न्याय कर पाए है, इन्हीं किरदारों में से एक है गुड्डू पंडित और बबलू पंडित के पिता जी रमाकांत पंडित, जिन्होंने अपने दमदार अभिनय से सीरीज में चार चांद लगा दिए हैं।

शेयर किया ऑडिशन का वीडियो:

वेब सीरीज में रमाकांत पंडित का रोल अदा करने वाले बहुमुखी कलाकार राजेश तैलंग ने ट्विटर पर मिर्जापुर के शुरुआती दिनों से भी पहले का एक वीडियो शेयर किया है जिसमें तैलंग अपने कालजयी सीन की एक्टिंग करते हुए नजर आ रहे है।

वीडियो उस वक्त का है जब मिर्जापुर केवल कागजों पर था:

राजेश तैलंग ने इस वीडियो को करीब तीन साल पहले का बताया है, राजेश तैलंग ने बताया कि उस वक्त जब मिर्जापुर नाम केवल कागज अर्थात केवल स्क्रिप्ट में ही था उस वक्त लिए गए ऑडिशन में मिर्जापुर सीजन 1 के बेहद दमदार सीन का एक्ट कराया गया था, इस सीन में एक छुटभैया गुंडा अदालत में चल रहे केस में फेरबदल कराने के चक्कर मे पंडित जी के पास चाकू लेकर जाता है लेकिन बाद में पंडित जी उसे अपना लाइसेंसी रिवाल्वर दिखाकर लतियाते नजर आते हैं।

यहाँ आपको बताते चले कि राजेश मिर्जापुर के दोनो सीजन में बेहद अहम किरदार निभाते चले आ रहे है, दोनो सीजन के महत्वपूर्ण स्लॉट में राजेश के हिस्से बेहतरीन डायलॉग आये हैं, फिर चाहे वह अदालत में सड़क छाप गुंडे को अदालत की याद दिलाना हो या कालीन भैया के खिलाफ कानूनी ढंग से जड़े खोदना, सभी मौकों पर रमाकांत पंडित बेहद ताकतवर नजर आए है, दूसरे सीजन में जब रमाकांत पंडित के पास अपने बेटे गुड्डू और एसपी में से एक को चुनना होता है तो उनका किरदार बेहद नाजुक तरीके से संभाल लेता है।

कम सही लेकिन दमदार एक्टिंग:

अगर राजेश तैलंग के सिनेमा के काम को देखे तो उनकी काबिलियत के हिसाब से उनके हिस्से में बेहद कम काम नजर आता है लेकिन देखने वाली बात यह है कि राजेश के हिस्से में जो भी काम आया वो यादगार साबित हुआ, मुक्केबाज से लेकर, अय्यारी, मिर्जापुर, सिलेक्शन डे, देल्ही क्राइम में राजेश के काम को लंबे वक्त तक याद रखा जाएगा।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com