Anurag Kashyap against CAA and NRC
Anurag Kashyap against CAA and NRC|Google
बॉलीवुड बुलेटिन

अनुराग कश्यप का सरकार का मुखर विरोध करना खैरात न मिलने की वजह से है - भाजपा प्रदेश प्रवक्ता 

सोशल मीडिया में गाली गलौज करने वाला फिल्म डायरेक्टर फिल्मों के माध्यम से समाज को क्या परोसेगा ये समझने का वक्त आ गया है।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

Summary

वर्तमान में अगर कोई बॉलीवुड कलाकार भाजपा के कानूनों और नीतियों का मुखर विरोध कर रहा है तो सबसे पहला नाम अनुराग कश्यप का आएगा, जो वर्तमान में बॉलीवुड के मंझे हुए निर्देशक माने जाते है।लेकिन इस झमेले में उत्तर प्रदेश भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता ने इस मामले को लेकर एक ट्वीट किया है जिसको लेकर बवाल खड़ा हो चुका है।

आखिर मुद्दा उठा कैसे :

अगर पुराने ट्रेंड पर नजर डाले तो तो अनुराग कश्यप काफी लंबे वक्त से सरकार के ऊपर उखड़े-उखड़े नजर आ रहे थे, आखिरकार उन्हें वो मौका भी मिला जब अनुराग कश्यप पूरी तरह से सरकार के विरोध में कूद पड़े और सिर्फ कूदे ही नहीं बल्कि कई बार अपनी फिल्मों की तरह भाषायी विशेषता भी प्रयोग की गई। जिसकी वजह से अनुराग लोगों के निशाने पर आये। लेकिन अनुराग ने विरोध करने से मुँह नही मोड़ा, बल्कि साथ ही अनुराग के द्वारा विरोध दुगनी ताकत के साथ बढ़ता गया, इसका नमूना अनुराग के ट्वीटर पर देखा जा सकता है, अनुराग अपने ट्वीट्स पर अभद्र भाषा का प्रयोग करते नजर आ रहे है।

  • एक और देखिए

मामला सीएए और एनआरसी को लेकर फैला हुआ है, जिसमे अनुराग कश्यप बराबर आहुति देते जा रहे है लेकिन मामला अब दोनो तरफ से बढ़ना था और हुआ भी ऐसा ही भाजपा उत्तर प्रदेश के प्रदेश प्रवक्ता ने अनुराग कश्यप के मुंह फुलाने का कारण बताया है जिसमें अनुराग को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सब्सिडी बंद करने या न उपलब्ध कराने की वजह से बताया है।

  • भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का खुलासा वाला ट्वीट:

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने अपने ट्वीट में खुलासा करके बताया कि अनुराग कश्यप की निर्देशित फिल्म जिंनमे 'मसान' जैसी फिल्मों के नाम है, उनकी सब्सिडी बंद करने की वजह से अनुराग कश्यप की नाराजगी बढ़ रही है, प्रदेश प्रवक्ता ने अपने ट्वीट में बताया कि सरकारी भीख न मिलने की वजह से अनुराग सरकार पर निशाना साध रहे है। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने अपने ट्वीटर पर ही पूर्ववर्ती सरकारों द्वारा यश भारती सम्मान के नाम पर दी जाने वाली भारी भरकम 50,000 की पेंशन दिए जाने का उल्लेख किया है। लेकिन भाजपा सरकार आने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस पेंशन व्यवस्था को समाप्त कर दिया, प्रवक्ता ने बताया कि इस पेंशन का उपयोग गरीब और विधवा महिलाओं को लाभार्थी बनाये जाने के लिए होगा।

हालांकि इस हमले के बाद निर्देशक अनुराग कश्यप भी कहाँ चुप बैठने वाले थे उन्होंने उसी तर्ज पर ट्विटर पर ही जवाब देना ठीक समझा और दोनो तरफ से ट्वीट जंग शुरू हो गयी।  

इस ट्वीट में अनुराग कश्यप द्वारा प्रयोग किया गया हैशटैग साफ साफ देखा जा सकता है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com