kangana ranaut and jaya bachchan controversy
kangana ranaut and jaya bachchan controversy|Google Image
बॉलीवुड बुलेटिन

जया-कंगना विवाद में कूदी स्वरा भास्कर, जलती आग में कूद गई

अगर बात स्वरा भास्कर की हो और कंट्रोवर्सी न हो ऐसा होना लगभग असंभव है, एक बार फिर स्वरा अपने अंदाज में एक मामले में बिना बुलाये घुस गई है मामला कंगना और जया बच्चन के बीच का है।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

स्वरा भास्कर ने कंगना से कहा अपने दिमाग की गंदगी अपने तक सीमित रखिए। यदि आप मुझे गालियां देना चाहती हैं तो दीजिए। मैं खुशी-खुशी आपकी बकवास सुनूंगी और आपके साथ ये कीचड़ कुश्ती लड़ूंगी।

स्वरा ने कहा मैं लडूंगी कीचड़ कुश्ती:

देखो स्वरा का कुश्ती और कीचड़ से कोई लेना देना नहीं है लेकिन कंगना विवाद में अगर स्वरा नहीं कूदती तो मामला रोमांचक कैसे होता वैसे कंगना भी इस विवाद में दूर-दूर तक नही थी और जया भी नही, और मुद्दे को अलग रंग देने वाले भोजपुरी-बॉलीवुड एक्टर रविकिशन भी इस मामले में बेहद नाटकीय ढंग से कूद कर सामने आए। दरअसल एक्टर से नेता बने रविकिशन ने संसद में बॉलीवुड में चल रहे नशे के कारोबार और ढर्रे पर निशाना साधा जिसपर उन महिला कलाकार, एक्टर को बुरा लग गया जिन्होंने सुशान्त सिंह, कंगना मामले में अभी तक कोई शब्द नहीं कहा था तो मामला रविकिशन और जया का था जिसे कंगना ने आड़े हाँथ लिया और कंगना से लड़ने की मुद्रा में स्वरा भास्कर भी सामने आ गयी।

संसद से शुरुआत कीचड़ पर आ गई:

इस विवाद की शुरुआत भले ही सुशांत सिंह की मृत्यु से शुरू हुई हो लेकिन इसके असल मायने कंगना के कूदने के बाद ही सामने आए। दरअसल कंगना ने शिवसेना पर सुशान्त की हत्या के राज छुपाने के आरोप लगाए और बाद में शिवसेना ने कंगना का ऑफिस साजिशन ढहा दिया। इसके बाद रिया चक्रवर्ती और उसके भाई शौविक गांजे चरस के मामले मे लपेट दिए गए इसको लेकर रविकिशन ने संसद में इस बात को उठा दिया गया जिसपर जया बच्चन ने " जिस थाली में खाते है उसी में छेद करनेकी बात कह दी"

इसपर कंगना ने जया बच्चन से सवाल दागे:

इससे पहले की जया बच्चन इस मामले पर कोई भी सवाल जवाब करती स्वरा भास्कर कीचड़ कुश्ती करने पर उतारू हो गयी

अगर बोलने की बात कहें तो स्वरा का बोलना जायज है क्योंकि उन्हें लगभग हर मामले में बोलने की आदत है भले ही उनका उससे कोई लेना देना हो या न हो और फिर ये बॉलीवुड है जहां लाइम लाइट में आने के लिए लोग क्या-क्या नहीं करते।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com