तांडव वेब सीरीज पर कसा शिकंजा, अमेज़न को जारी किए गए नोटिस

अमेज़न की वेब सीरीज तांडव के खिलाफ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ मे एफ आई आर दर्ज।
तांडव वेब सीरीज पर कसा शिकंजा, अमेज़न को जारी किए गए नोटिस
Tandav Web series ControversyUday Bulletin

तांडव वेब सीरीज अमेजन पर जितने धूम धड़ाके के साथ ओटीटी पर आई थी उससे कही ज्यादा अब बवाल इस वेब सीरीज के पीछे शुरू हो गया है और इस बवाल की जड़ है हिन्दू देवी देवताओं पर तंज कसना अब इस मामले मे ताजा खबर है कि वेब सीरीज को लेकर लखनऊ में एफआईआर दर्ज कराई जा चुकी है और केंद्र सरकार भी इस मामले में बेहद सख्ती के साथ निबटने के मूड मे है। केंद्र सरकार ने अपने कदम में अमेजन इंडिया को एक नोटिस जारी किया है। जिसमें यह उल्लेखित किया गया है कि जनसमुदाय की भावनाओं के आहत होने के बाद लोगों ने इस वेब सीरीज को लेकर शिकायतें दर्ज कराई है। अमेजन इंडिया इसपर स्पस्टीकरण उपलब्ध कराए।

क्या है बवाल की जड़:

बवाल की जड़ पूरी वेब सीरीज में एक सीन है जो इस कहानी को वेब सीरीज से कही ज्यादा आगे बढ़ाकर एक सनसनीखेज बवाल बना देता है। दरअसल वेब सीरीज के एक सीन मे एक नाटक का मंचन होता दिखाया जा रहा है। उसमे शिवा नाम का एक छात्र (जीशान अयूब) भगवान शिव की भूमिका में नजर आता है तभी नारद बने एक छात्र द्वारा शिवा से कहा जाता है कि " प्रभु सोशल मीडिया में भगवान राम की फैन फॉलोइंग लगातार बढ़ रही है। आपको भी कुछ कदम उठाने चाहिए। इस पर शिवा ( शिव के चरित्र में ) " व्हाट अ @#$%" कहते हुए नजर आता है।

इस दौरान शिवा द्वारा शिव के बेहद अलग किस्म बदले हुए रंगरूप को दिखाया जाता है। शिव के हांथो में त्रिशूल है वही उसके माथे पर क्रॉस बनाया गया है। कई जगहों पर ऊंची और नीची जाति के बारे में डायलॉग बाजी करके इस सीरीज को भुनाने का प्रयास किया गया है।

कितनी आज़ादी है सिनेमा मे:

देखिए आज़ादी के अपने मायने है अगर हम किसी ऐसी चीज का निर्माण करते है जो केवल हम तक सीमित रहे उसके लिए कोई चिंता की बात नहीं है लेकिन अगर मामला समाज से जुड़ा है तो उससे हमारी जिम्मेदारियां बढ़ जाती है। आप समाज के प्रति जिम्मेदार हो जाते है। आप अभिव्यक्ति की आज़ादी के नाम पर कुछ भी परोस नहीं सकते

चूंकि किसी भी धार्मिक मामले पर बेहद सतर्कता से कार्य करना चाहिए। लोगों ने इस मामले पर जीशान अयूब समेत निर्माता निदेशकों पर आरोप लगाया है कि उन्होंने जानबूझकर हिन्दू देवी देवताओं के चरित्रों के साथ दुर्व्यवहार किया है। उनका आशय सीरीज दिखाना नहीं है बल्कि सोची समझी साजिश के तहत हिन्दू समुदाय को अपमानित करना है।

यहां आपको बताते चले कि अभिनेता जीशान अयूब पहले भी अपने बयानों के चलते लोगों के निशाने पर रहे है। अब सीरीज में उनके चरित्र और कथानक को लेकर लोग आश्वस्त हो चुके है। कि जीशान केवल और केवल हिन्दू समुदाय को अपमानित करना चाहते है। मामले पर इस वेब सीरीज के निर्माता, निर्देशक, अभिनेताओं के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई जा चुकी है।

लोक सभा सदस्य मनोज कोटक द्वारा सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को लिखा गया पत्र जिसमें अमेजन पर प्रसारित वेब सीरीज मे कंटेंट को लेकर नाराजगी जताई गई है।

मामले में बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी नाराजगी जताई है

निर्माता निर्देशक ने इस मामले पर माफी भी जाहिर कर दी है लेकिन भला विवाद इतनी जल्दी कैसे शांत होगा।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com