उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
फेसबुक मैसेंजर  क्रैश
फेसबुक मैसेंजर क्रैश
अन्य खबर

फेसबुक मैसेंजर दुनियाभर में क्रैश  

अमेरिका और यूरोप सहित दुनिया भर के कई फेसबुक उपयोगकर्ताओं ने मंगलवार को मैसेंजर के काम नहीं करने की शिकायत की। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

सैन फ्रांसिस्को | अमेरिका और यूरोप के कई फेसबुक उपयोगकर्ताओं ने मंगलवार को मैसेंजर के काम नहीं करने की शिकायत की। डिजिटल वर्ल्ड में हुई रुकावटों को देखने वाले एक पोर्टल 'डाउनडिटेक्टर डॉट कॉम' के अनुसार, मंगलवार को हजारों की संख्या में फेसबुक मैसेंजर अपने मैसेज नही देख पा रहे थे, लॉग इन नहीं कर पा रहे थे और सर्वर से कनेक्ट नहीं कर पा रहे थे।

यह रुकावट आधीरात के बाद शुरू हुई और कुछ घंटों तक रहीं लेकिन बाद में सेवा बहाल हो गई।फेसबुक ने फिलहाल इस रुकावट का कारण नहीं बताया है।

फोर्ब्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, "फेसबुक आमतौर पर विश्वसनीय है, लेकिन हाल ही में कुछ ज्यादा ही रुकावटें हुईं हैं। इसमें अकेले सितंबर में ही चार बार रुकावट आई थी।"

यह समस्या फेसबुक द्वारा मैसेंजर को अपडेट करने के अगले दिन ही आ गई है। अपडेटेड मैसेंजर के अनुसार, मैसेज को सेंड करने के 10 मिनट के अंदर चैट थ्रैड्स से डिलीट किया जा सकता है। फेसबुक मैसेंजर के 1.3 अरब से अधिक यूजर्स हैं।

आपको बता दें कि वर्तमान समय में फेसबुक लोगो से जुड़ने का सरल माध्यम बन गया है। अपनी नीतियों में बदलाव के साथ फेसबुक सामाजिक गतिविधियों में भी सहायक बनता जा रहा है। फेसबुक गूगल के पदचिन्हों पर चलते हुए फेसबुक ने यौन प्रताड़ना से जुड़े मामलों को लेकर अपनी नीतियों में बदलाव किया है और किसी कर्मचारी द्वारा किसी अन्य कर्मी पर इस तरह के आरोप के मामले में कंपनी द्वारा मध्यस्थता को वैकल्पिक बना दिया है। द वॉल स्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। रिपोर्ट में शुक्रवार को कहा गया कि फेसबुक ने आंतरिक पोस्ट में अपने कर्मचारियों के समक्ष नई नीति की घोषणा की है।