उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
साक्षी मलिक
साक्षी मलिक|google
अन्य खेल

भारतीय कुश्ती महासंघ ने जारी की सूची, दो बार ओलंपिक पदकधारी सुशील कुमार और साक्षी मलिक को ग्रेड बी का अनुबंध

भारतीय कुश्ती महासंघ ने जारी की पहलवानों के लिये केंद्रीय अनुबंध प्रणाली। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

गोंडा, उत्तर प्रदेश: भारतीय कुश्ती महासंघ (Indian wrestling federation) भारतीय ओलंपिक संघ (Indian Olympic Association) द्वारा मान्यता प्राप्त एकमात्र राष्ट्रीय खेल महासंघ है जिसने अपने खिलाड़ियों के लिये अनुबंध की पेशकश की है और ऐसा करने वाली बीसीसीआई के बाद दूसरी खेल संस्था है।

भारतीय कुश्ती महासंघ (Indian wrestling federation) ने पहलवानों के लिये केंद्रीय अनुबंध प्रणाली की शुरूआत की जिसमें स्टार पहलवान बजरंग पूनिया और विनेश फोगाट को पूजा ढांडा के साथ 30 लाख रूपये की राशि के शीर्ष ग्रेड ए अनुबंध में शामिल किया गया।

ग्रेड अनुसार शामिल खिलाड़ी

  1. ग्रेड ए - स्टार पहलवान बजरंग पूनिया, विनेश फोगाट और पूजा ढांडा पहलवान शामिल हैं।
  2. ग्रेड बी - ओलंपिक पदकधारी सुशील कुमार और रियो ओलंपिक की कांस्य पदकधारी साक्षी मलिक पहलवान शामिल हैं।
  3. सी ग्रेड - संदीप तोमर, ग्रीको रोमन पहलवान साजन भानवाल, विनोद ओम प्रकाश, रितु फोगाट, सुमित मलिक, दीपक पूनिया और दिव्या काकरान शामिल हैं।
  4. डी ग्रेड - राहुल अवारे, नवीन, सचिन राठी, ग्रीको रोमन पहलवान विजय, रवि कुमार, सिमरन, मानसी और अंशु मलिक शामिल हैं।
  5. ग्रेड ई -नवजोत कौर, किरण, हरप्रीत सिंह और जितेंदर कुमार शामिल हैं।
  6. ग्रेड जी- अंडर-23, जूनियर, कैडेट और अंडर-15 राष्ट्रीय चैम्पियनशिप के 30 स्वर्ण पदकधारी पहलवान शामिल हैं।

अनुबंधन राशि

  • ए ग्रेड में खिलाड़ियों को 30 लाख रूपये का सहयोग मिलेगा।
  • बी ग्रेड में खिलाड़ियों को 20 लाख रूपये का सहयोग मिलेगा।
  • सी ग्रेड में खिलाड़ियों को 10 लाख रूपये का सहयोग मिलेगा।
  • डी ग्रेड में पांच लाख रूपये की मदद मिलेगी।
  • ग्रेड एफ (अंडर-23) के पहलवानों को प्रत्येक वर्ष 1,20,000 रूपये।
  • जी ग्रेड (जूनियर) को 90,000 रूपये।
  • एच ग्रेड (कैडेट) को 60,000 रूपये।
  • आई वर्ग (अंडर-15) को प्रत्येक वर्ष 36,000 रूपये मिलेंगे।

आपको बता दें कि, डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष ब्रज भूषण शरण सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में यहां नन्दिनी नगर सीनियर राष्ट्रीय चैम्पियनशिप का उद्घाटन किया। सिंह ने कहा, ‘‘ग्रेड की समीक्षा के बाद पहलवान ऊपर नीचे हो सकते हैं। ’’