उप्र में योगी बाबा का सीधा फरमान कोरोना संक्रमण को छिपाया तो होगी जेल।

लखनऊ में अब तक कोरोनावायरस पॉजिटिव के दो मामले सामने आ चुके हैं और 11 मरीजों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है, जिनकी रिपोर्ट आने का अभी इंतजार है।
उप्र में योगी बाबा का सीधा फरमान कोरोना संक्रमण को छिपाया तो होगी जेल।
Yogi Government action to prevent coronavirusGoogle

विश्व समेत भारत मे कोरोना का ख़ौफ़ सर चढ़ कर बोल रहा है। शायद यही कारण है कि देश मे तमाम सरकारें बड़े कड़े कदम उठा रही है। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने ताजा फरमान जारी किया है। जिसके अंतर्गत कोरोना को छिपाने, इलाज में सहयोग न करने, बाधा डालने पर पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

इलाज में कोई बाधा नही :

अगर किसी व्यक्ति को यह लगता है कि उसे कोरोना के लक्षण है उसने या उसके किसी नजदीकी मित्र अथवा रिश्तेदार ने कोरोना प्रभावित देशों की यात्रा की है तो उसका फर्ज यह बनता है कि कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए उसे जांच करानी आवश्यक होगी। और अगर किसी व्यक्ति ने इस बीमारी को छिपाया इसका मतलब यह है कि वह अन्य लोगों की जान जोखिम में डाल रहा है। ऐसे मौके पर उत्तर प्रदेश सरकार कड़े कदम उठा सकती है और अगर जांच टीम को रोगी की पहचान और परीक्षण करते वक्त अस्पताल और चिकित्सा टीम के कार्य मे बाधा पहुंचाई गयी तो समाज मे माहौल खराब करने के जुर्म में भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत कार्यवाही की जाएगी।

जांच और इलाज में कोई कसर नहीं :

योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश में कोरोना की आहट को देखते हुए लखनऊ समेत यूपी के कोरोना प्रभावित संभावित जिलो में रैपिड रिस्पांस टीम के गठन का सुझाव दिया है। और सरकार के आदेश को देखते हुए लखनऊ में तत्काल प्रभाव से रैपिड रिस्पांस टीम का गठन भी किया जा चुका है। जिसका मुख्य कार्य सूचना मिलते ही पीड़ित की जांच और इलाज मे तेजी लाना होगा। यहाँ आपको बताते चले कि उत्तर प्रदेश में अभी तक 12 पॉजिटिव केस पाए गए हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने नेपाल बॉर्डर जैसी संवेदनशील जगह पर करीब तेरह लाख लोगों की थर्मल स्कैनिंग की जा चुकी है वही एयरपोर्ट पर भी करीब बीस हजार यात्रियों की स्कैनिंग की गई है। सरकार लगातार लोगों को यह बता रही है कि वह हर मुश्किल में आम जनता की तकलीफ के साथ खड़ी है।

कोरोना वायरस का ताबीज़ देने वाला बाबा लखनऊ में गिरफ्तार:

Corona wale Baba giraftar 
Corona wale Baba giraftar Social Media

लखनऊ पुलिस ने कोरोना वायरस को लेकर अपनी दुकान चलाने वाले एक फर्जी बाबा को गिरफ्तार किया है, जो कोरोनावायरस को ठीक करने का दावा करते हुए 11 रुपये में ताबीज बेच रहा था।

फर्जी बाबा अहमद सिद्दिकी ने अपनी डालीगंज स्थित अपनी दुकान के बाहर एक बोर्ड लगा रखा था, जिसपर इस जानलेवा वायरस को ठीक करने का दावा किया गया था।

इस बोर्ड पर लिखा हुआ था कि जो लोग मास्क नहीं पहन सकते, वे ये ताबीज पहनकर कोरोना को दूर रख सकते हैं।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि उन्होंने पुलिस को इसकी जानकारी दी और पुलिस ने आरोपी को धोखाधड़ी और जालसाजी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। आरोपी खुद को कोरोना वाले बाबा बताता है और मासूम लोगों को धोखा दे रहा है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com