अबैध संबंधों को छुपाने के लिए अपनी औलाद की कातिल बनी माँ, जांच में हुआ खुलासा

खुद के कुकर्म छुपाने के लिए बेटे का क़त्ल कर दिया
अबैध संबंधों को छुपाने के लिए अपनी औलाद की कातिल बनी माँ, जांच में हुआ खुलासा
अबैध संबंधों को छुपाने के लिए अपनी औलाद की कातिल बनी माँuday bulletin

इसे शारीरिक भूख की इंतहा कहें या फिर चरित्रहीनता की हद, जब खुद माँ ही अपने बच्चे की जान की दुश्मन बन जाये तो दुनिया मे अब किसका भरोसा किया जा सकता है। मामला उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिला अंतर्गत कस्बे राठ के एक गांव से जुड़ा हुआ है जहाँ पर एक कलियुगी माँ द्वारा अपने सात वर्षीय बच्चे को जान से मारा गया है।

अवैध संबंधों के कारण उतारा मौत के घाट:

हमीरपुर जिले के राठ कस्बे अन्तर्गत आने वाले गांव गल्हिया में 19 दिसंबर को उस वक्त हड़कंप मच गया जब ग्रामीणों ने पशुबाड़े में एक सात वर्षीय बच्चे की लाश देखी, मामले की जानकारी होने पर उसी पशुबाड़े के मालिक सतीश ने इस मामले पर जानकारी दी कि मृतक बालक उसकी बहन का बेटा (भांजा) हिमांशु है। इस मामले में सतीश ने ही स्थानीय पुलिस थाने में जाकर तहरीर दी और खुद अपने बहनोई (मृतक बच्चे के पिता) पर हत्या करने का आरोप लगाया।

सनद रहे कि मृतक बालक अपनी माँ सर्वेश कुमारी के साथ अपने मामा के बेटे के लड़के के कुँआ पूजन कार्यक्रम में आया हुआ था। घर मे माता पिता के बीच कुछ बातों को लेकर लंबे वक्त से अनबन चल रही थी जिसके फलस्वरूप बच्चे का पिता इस कार्यक्रम में ससुराल पक्ष से चल रहे तनाव को लेकर मौके पर नही पहुँचा, इस मामले पर मृतक के मामा सतीश और मृतक बच्चे की माँ द्वारा बच्चे के पिता पर यह आरोप लगाया गया कि उसने अपनी दुश्मनी निकालने के चक्कर मे अपने ही बेटे को मौत के घाट उतार दिया है।

पुलिस ने पिता से सच पूँछा:

मामले में तहरीर मिलने पर पुलिस ने मृतक बच्चे के पिता को हिरासत में लेकर जानकारी हासिल की, पिता ने सुबूतों के साथ मे यह साबित किया कि वह उस वक्त गल्हिया गांव में उपस्थित ही नही था, साथ ही पिता ने पुलिस के सामने यह बात रखी कि वह आखिर अपने बेटे को क्यों मारेगा? जबकि उसका बच्चा ही उसका वारिस है। मेरा मेरी पत्नी के साथ चारित्रिक मतभेद है जिसको लेकर अक्सर विवाद होता रहता है।

पुलिस को मामा और माँ की थ्योरी संदिग्ध लगी:

चूंकि मृतक के बच्चे के पिता ने पर्याप्त सबूत उपलब्ध कराए थे इसलिए पुलिस की जांच मामा और खुद बच्चे की माँ पर केंद्रित हो गयी, पुलिस ने मामा और माँ को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की तो माँ कुछ ही देर में टूट गयी और बच्चे की हत्या के बारे में सारा राज उगल दिया।

पुलिस के सामने दिए गए बयान में माँ सर्वेश कुमारी ने इस मामले में सारा राज खोलते हुए बताया कि उसके और उसके बहनोई (जीजा ) के साथ मे लंबे वक्त से संबंध थे , बीते दिन में हुए कुँआ पूजन में जीजा जी भी यहां पर आए थे उसी दौरान एकांत स्थान पर शारीरिक संबंध बनाते हुए हिमांशु ने उसे देख लिया था और अपने पिता के साथ साथ सभी जगह इस बारे में बताने की धमकी भी दी थी, बदनामी के डर से सर्वेश कुमारी ने अपने ही बेटे को टॉफी देने के बहाने फुसलाकर पशुबाड़े में जाया गया जहां पर उसने हिमांशु का गला दबाकर उसे बेहोश कर दिया और पैर से गला दबाकर हत्या कर दी।

सनद रहे कि माँ सर्वेश कुमारी के ऊपर उसका पति उसके चरित्र को लेकर लगातार आशंकित रहता था, इससे पहले भी कई बार पति द्वारा पत्नी को फोन पर आपत्तिजनक बात करते हुए पकड़ा था जिसपर पत्नी और पति के बीच मे विवाद होता रहता था ,लेकिन मायके वाला पक्ष इस बात को कभी स्वीकारता ही नही था, इसी विवाद के चलते सर्वेश कुमारी बीते करीब 6 माह से मायके में रह रही थी।

इस मामले पर स्थानीय पुलिस का शक तब ज्यादा गहराया अब माँ द्वारा लगातार अपने पति पर ही बेटे की हत्या करने का आरोप लगाया जा रहा था, पत्नी द्वारा बार बार यह कहा जा रहा था कि "मवई वालेन ने मार डारो मोरो बेटा "जबकि पति उस स्थान पर उपस्थित ही नही था। पुलिस ने इस शक के आधार पर ही जांच को दिशा दी।

पुलिस ने मृतक हिमांशु की हत्यारोपी माँ को अदालत में पेश करने के बाद जेल भेज दिया है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com