उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Murder in Meerut
Murder in Meerut|Social Media
देश

पेटीज के बहाने पति को घर से बाहर निकाल कर करवाई हत्या, आरोपी प्रेमी और पत्नी पुलिस के हत्थे चढ़े। 

इश्क में चूर पत्नी की कारिस्तानी का अंदाज़ा पति को ही नही चला और दूसरे आशिक से आंख लड़ा कर पत्नी ने पति की मौत की स्क्रिप्ट लिख डाली।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

मामला उत्तर प्रदेश के जिला मेरठ से जुड़ा हुआ है जहाँ प्रदीप कुमार उम्र 25 वर्ष पुत्र सूरजमल देवव्यासपुरी स्थित नीलकंठ कालोनी की घर के पास ही गोलिये से भून कर हत्या कर दी गयी, घटनास्थल पर मृतक की पत्नी मौजूद थी जिसने पति की गोली मारे जाने के बाद शोर मचाना शुरू किया जिसकी वजह से लोगों ने इसे लूटपाट से जुड़ा हुआ मामला समझा।

फोन ने खोली पोल :

पुलिस ने अपनी जांच का मुख्यबिन्दु लूटपाट और हत्या को आधार बनाकर जांच शुरू की, पुलिस ने संदिग्धों और प्रदीप की पुरानी रंजिशों की जानकारी जुटाने की कोशिश की, लेकिन पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुँच पा रही थी, तभी मृतक के पिता अपनी बहू यानी कि प्रदीप की पत्नी का मोबाइल लेकर थाने पहुंचे और एक संभावित शंका के बारे बताया कि बहू के मोबाइल को चेक किया जाए। पुलिस ने एक्सपर्ट की सहायता से मोबाइल खंगाला तो सारा काला चिट्ठा सांमने निकल के आ गया, इस पूरे हत्याकांड की स्क्रिप्ट मोबाइल में ही निकल आयी और नतीजा यह निकला कि पत्नी ने एक तमाचे के जवाब में पति की मौत की स्क्रिप्ट लिख दी थी।

मनप्रीत के साथ हुआ था प्रेम विवाह, एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के चलते हुई हत्या :

दरअसल प्रदीप और मनप्रीत का प्रेम विवाह फेसबुक के जरिये हुआ था, पत्नी मनदीप एक एनजीओ में काम करती थी, इस विवाह को हुए डेढ़ साल भी नहीं बीते और इस इश्क का हश्र कुछ इस प्रकार हुआ।

शादी के बाद भी मनदीप की मनमर्जी और आंख लड़ाने का शग़ल नहीं छूटा और एक ट्रक चालक राजदीप से आंखे लड़ गयी, और शादी के करीब छह माह बाद ही मनदीप का मन प्रदीप से भर कर राजदीप के साथ हो लिया यहाँ तक कि एनजीओ के काम के बहाने हनुमानगढ़ राजस्थान में जाकर मनप्रीत ने राजदीप के साथ एक मंदिर में शादी भी कर ली थी, इसी शादी के बाद मनप्रीत प्रदीप से तलाक देने का जोर करने लगी थी लेकिन प्रदीप इसे नामंजूर कर रहा था।

एक थप्पड़ और नाजायज आशिकी में गलत कदम उठाया :

प्रदीप ने एक दिन पत्नी मनदीप को फोन पर राजदीप से अश्लील बातें करते हुए पकड़ लिया और पत्नी को ऐसा न करने के लिए कहा, लेकिन मनदीप को तो भूत सवार था, उसने प्रदीप को कहा कि वो ऐसा ही करेगी, ऐसा कहने पर प्रदीप ने मनदीप को एक तमाचा जड़ दिया, मनदीप ने राजदीप को फोन पर ही कहा कि " ऐसे कब तक पिटवाओगे" और इसी घटना के बाद प्रदीप राजदीप के निशाने पर आ गया।

हत्या में अन्य लोग भी शामिल :

इस हत्या के लिए सारा मौका पत्नी मनदीप ने क्रिएट किया और राजदीप अपने साथ अपने भाई बाबू को लाया, और साथ मे एक अन्य व्यक्ति को भी लेकर आया दोनों से कहा कि एक व्यक्ति को सबक सिखाना है।

मौके पर पहुँच कर राजदीप ने प्रदीप की बाइक रुकवाई और मनदीप ने झट से प्रदीप का मोबाइल छीन कर प्रदीप को चांटा मारते हुए कहा " बोल और मारेगा चांटा" तभी राजदीप ने प्रदीप की कनपटी पर तमंचा सटा कर गोली मार दी, और फिर मनदीप ने ये सब नाटक किया, और मामला पुलिस के हांथो तक पहुँच।

पुलिस ने मात्र बारह घण्टे में घटना का किया खुलासा :

मृतक के पिता द्वारा मोबाइल उपलब्ध कराए जाने के बाद जब पुलिस ने मनदीप के साथ सख्ती की तो मनदीप किसी तोते की तरह बोलती चली गयी और सारा माजरा खुल गया।