उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Vivek Tiwari
Vivek Tiwari
देश

उत्तर प्रदेश पुलिस ने किया एपल के एरिया मैनेजर “विवेक तिवारी” का ऐनकाउंटर!  

लखनऊ के “गोमतीनगर” में दागी गयी गोली   

Sneha Sinha

Sneha Sinha

लखनऊ: लखनऊ के गोमतीनगर में पुलिस के गोली चलाने के कारण एपल के एरिया मैनेजर "विवेक तिवारी " की मौत हो गयी है। चारों ओर विवेक की मौत को लेकर कोहराम छाया हुआ है। उत्तर प्रदेश पुलिस के कांस्टेबल प्रशांत का कहना है कि विवेक ने गाडी खड़ी कर रखी थी और जैसे ही हम सामने आये उन्होंने गाडी चालू कर दिया जिसके कारण हमे लगा की यह कोई अपराधी हैं और खुद को बचाने के चक्कर में हमने गोली चला दी और गोली जाकर गाड़ी में लग गयी। वार्ता के पहले पहलू को अगर देखा जाये तो अपने बचाव के लिए आप गोली चला सकते हैं लेकिन किसी भी अपराधी को रोकने के लिए पैर या हाथ पर गोली चलाना अपराध नहीं है वहीं अगर आपकी गोली से किसी की जान चली जाये तो यह अपराध नहीं गुनाह है।

यहाँ एनकाउंटर पर उठ रहे अनेक सवालों का जवाब यूपी सरकार के पास नहीं मिल रहा था वही दूसरी ओर पुलिस वाले ने एक आम आदमी को गोली मारकर इस मुद्दे को और बढ़ावा दे दिया है। अगर विवेक तिवारी का पिछला रिकॉर्ड देखा जाये तो उनका रिकॉर्ड बिलकुल क्लियर है उनके खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है। सूत्रों की माने तो यह एक सोची समझी साजिश है।

घटना के दौरान विवेक की सहकर्मी सन्ना भी उनके साथ थी और उनके बयान और पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट्स से पता चला है की विवेक को सर पर गोली मारी गयी थी और इसी कारण उनको अस्पताल ले जाते जाते उनकी मौत हो गयी। विवेक की पत्नी उत्तर प्रदेश सरकारसे इस मामले की सही प्रकार से जाँच करने और अपने पति को न्याय दिलवाने की माँग से कर रही हैं। विवेक की पत्नी का कहना है की जब उन्हें उनके पति की हत्या को एक एक्सीडेंट के रूप में तोड़ मरोड़कर बताया गया तो वह घटनास्थल पर गयी तब उन्हें उनके पति की कार के सामने वाले शीशे में गोली मारने का निशान मिला। उनका कहना है की इस मामले के पीछे कोई बहुत बड़ा सच छुपा है।