आगरा में चल रहा स्मार्ट मीटर का फर्जीवाड़ा, बिना बिजली चल रहे है मीटर

दक्षिणांचल विद्युत निगम लिमिटेड आगरा ग्राहकों को चूना लगा रहा है, चाइनीज मीटर को स्मार्ट मीटर बताया जा रहा, बिजली कटने के बाबजूद बढ़ रही मीटर रीडिंग
आगरा में चल रहा स्मार्ट मीटर का फर्जीवाड़ा, बिना बिजली चल रहे है मीटर
up smart meter issueUday Bulletin

बिजली के बिल फर्जी तरीके से बढ़ाने के आरोप दक्षिणांचल विद्युत निगम लिमिटेड के नीचे काम करने वाली निजी कंपनी टोरेंट पर लग रहा है। शिकायतों के मुताबिक बिजली काट देने के बावजूद भी मीटर इम्पल्स (मीटर में ब्लिंक करने वाली बत्ती को इम्पल्स कहते हैं) को चलाकर अपना यूनिट संख्या बढ़ा रहे है।

मिलीभगत का है नतीजा:

इस मामले को सबसे पहले आपको आगरा और बुंदेलखंड क्षेत्र में विद्युत वितरण करने वाली कंपनी को जानना होगा दरअसल यहां पर DVVNL के द्वारा लोगों को बिजली मुहैया कराई जाती है और इन दिनों पूरे वितरण क्षेत्र में लगभग सभी जगह स्मार्ट मीटर को लगाने का काम पूरा हो चुका है खासकर आगरा में इन दिनों टोरेंट पावर कंपनी इन दिनों मीटर लगाने, बिल वसूलने और अन्य सभी कार्य जैसे बिजली पहुँचाने और लाइन लास को रोकने का कार्य करती है। लेकिन अब इस मामले में विभागीय मिली भगत का नतीजा सामने आया है, जिसकी वजह से लोगों की नींद उड़ी हुई है, दरअसल आगरा के एक इलाके में एक महिला उपभोक्ता के घर मे लगे हुए मीटर को इसलिए अलग कर दिया गया क्योंकि उसका बिल 20000 की तय सीमा को पार कर चुका था। लेकिन हैरान करने वाली बात तब सामने आयी जब लोगों ने देखा कि मीटर बिना बिजली की सहायता के भी खुद की इम्पल्स चला रहा है और तकनीकी रूप से बिजली का बिल लगातार बढ़ रहा है।

समाजसेवी बालयोगी ने किया विरोध:

दरअसल बालयोगी नाम के संत इस विभागीय मिली भगत के खिलाफ लंबे वक्त से अपनी आवाज मुखर करते आ रहे है, बीते दिन बालयोगी ने खुद पीड़िता के घर पहुँचकर इस बारे में मुद्दा उठाया और वीडियो जारी करके इस गड़बड़झाले का रहस्योद्घाटन किया। बालयोगी ने बताया कि यह मीटर मुख्य बिजली लाइन से कटा होने के बावजूद अपने आप को चला रहा है और बिजली का बिल लगातार बढ़ रहा है। बालयोगी आगरा के नामचीन संत है जो जनसरोकार के लिए होने वाली समस्याओं को उजागर करते रहते है लेकिन इसी विरोध के कारण उन्हें DVVNL और टोरेंट पावर की तरफ से मुकदमे भी झेलने पड रहे है। यही नही समाजिक मुद्दे उठाने की वजह से उनपर महामारी एक्ट के तहत भी कार्यवाही की गई है।

युद्ध कहां तक टाला जाए दंश कहां तक पाला जाए तू भी राणा का वंशज है फेंक जहां तक भाला जाए

Posted by Bal Yogi on Sunday, September 20, 2020

बालयोगी का आरोप सबको मिल रहा है पैसा:

सनद रहे कि बीते दिन की खबरों में यह बात सिद्ध हो गयी है कि उत्तर प्रदेश में लगाये जाने वाले स्मार्टमीटर जरूरत से ज्यादा स्मार्ट पाये गए है और तकनीकी खामी की वजह से इसका सीधा-सीधा नुकसान आम आदमी को हो रहा है। लेकिन आगरा में हालात इससे भी भयावह है चूंकि बिना बिजली के मीटर का चलना एक समस्या ही माना जायेगा, लेकिन विभागीय मिली भगत और रिश्वतखोरी की वजह से आम लोगों की समस्याओं को नकारा जा रहा है बल्कि आवाज उठाने पर मुकदमे लादे जा रहे है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com