SP-BSP ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस के दौरान कहा मोदी सरकार CBI का ग़लत इस्तेमाल कर रही है
SP-BSP ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस के दौरान कहा मोदी सरकार CBI का ग़लत इस्तेमाल कर रही है|Google
देश

CBI जांच की आड़ में लोकसभा चुनाव से पहले विपक्ष को निपटाने में जुटी बीजेपी

उत्तर प्रदेश में SP-BSP ने एक साझा प्रेस कॉन्फ़्रेंस के दौरान कहा कि मोदी सरकार CBI का ग़लत इस्तेमाल कर विपक्ष को डरा रही है। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

उत्तर प्रदेश: उत्तर प्रदेश का खनन घोटाला मामला (UP Mining Scam) एक नया मोड़ ले रहा है। सीबीआई (CBI) छापेमारी के दौरान इस खनन घोटाला मामले (UP Mining Scam) में अब उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) का नाम जुड़ गया है। जिसपर सपा और बसपा (SP-BSP) ने एक मंच से बीजेपी (BJP) और मोदी सरकार पर हमला बोला है। इस मामले में मायावती ने अखिलेश का समर्थन करते हुए इसे भाजपा की ‘‘राजनीतिक कटुता’’ करार दिया और कहा कि इस तरह के हथकंडों से वह घबराएं नहीं। मोदी सरकार सीबीआई (CBI) का ग़लत इस्तेमाल कर विपक्ष को डरा रही है। सपा-बसपा के गठबंधन की ख़बर से ही बीजेपी डर गई और सरकार ने तोते से गठबंधन कर लिया।

समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को अब बनारस छोड़कर जाना होगा। उत्तर प्रदेश में बीजेपी को अब पैर रखने की जगह नहीं मिलेगी। सपा-बसपा गठबंधनजब चुनावी मैदान में साथ उतरेगी तो बीजेपी सहित कई दलों को काम करना मुश्किल हो जायेगा। वहीं उन्होंने अखिलेश यादव का समर्थन करते हुए कहा कि बीजेपी सरकार के पास सीबीआई (CBI) है तो हमारे पास गठबंधन की ताकत है। उन्होंने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा बीजेपी ध्यान रखे कि CBI चुनाव नहीं जीतती है।

कांग्रेस भी इस मुद्दे पर अखिलेश यादव के समर्थन में खड़े दिखाई दे रही है। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि नरेंद्र मोदी ने किसानों और मजदूरों पर ध्यान नहीं दिया और सीबीआई दूसरी संस्थाओं के जरिए दूसरी पार्टियों पर दबाव बनवाने का काम किया। मोदी सरकार जाते-जाते अखिलेश यादव के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। सरकार बने हुए इतने साल हो गए, तब से उसे यह क्यों नहीं दिखा। चुनाव के दौरान गठबंधन न हो, इसलिए यह सब हो रहा है। लेकिन इस देश में ऐसी तानाशाही नहीं चलेगी।

इसके अलावा सपा सांसद धर्मेंद्र यादव बसपा नेता सतीश मिश्र, बसपा सुप्रीमो मायावती भी इस मुद्दे पर अखिलेश यादव के समर्थन में हैं।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com