उत्तर प्रदेश के फतेहपुर में तालाब में उतराती पाई गई दो बहनें, हत्या करके फेंकने का आरोप

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले के असोथर थाना क्षेत्र अंतर्गत गांव छिछनी से जुड़ा हुआ है। जहाँ पर दो बहनों के मारे जाने वाली ह्रदय विदारक घटना सामने आई है।
उत्तर प्रदेश के फतेहपुर में तालाब में उतराती पाई गई दो बहनें, हत्या करके फेंकने का आरोप
Two sisters found dead in a pond Uday Bulletin

मामले में बलात्कार और हत्या का आरोप भी लगाया जा रहा है। हालांकि इस मामले पर पुलिस के अनुसार यह थ्योरी गलत है। पुलिस के अनुसार आशंका यह है कि दोनों बहनें तालाब में सिंघाड़े तोड़ने गयी होंगी। जहां पर डूब कर मौत होने की आशंका व्यक्त की जा रही है। पुलिस ने कहा है कि पोस्टमार्टम के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पायेगी।

तालाब में उतरते आयी दोनो बहने:

मामला उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले के असोथर थाना क्षेत्र अंतर्गत गांव छिछनी से जुड़ा हुआ है। जहाँ पर दो बहनों के मारे जाने वाली ह्रदय विदारक घटना सामने आई है। छिछनी गांव निवासी दिलीप सविता की दो पुत्रियां क्रमशः शुभि (उम्र लगभग आठ वर्ष) , किरण सविता (उम्र लगभग 12 वर्ष) सोमवार को अपने खेतों पर चने का साग तोड़ने के लिए गयी थी। देर शाम तक जब दोनो बच्चियां घर नहीं पहुचीं तो परिजनों ने लगातार तलाश की लेकिन बच्चियों का अता पता नहीं चला। परिजन बच्चियों की तलाश में खेतों तरफ की भी गए लेकिन कोई जानकारी नहीं मिली।

इस दौरान गांव भर में बच्चियों की तलाश होती रही लेकिन गांव के बाहर की तरफ से आते हुए ग्रामीणों ने गांव के बाहर नदी के पास पड़ने वाले तालाब में दो शव तैरते दिखाई देने की बात कही। इस मामले पर जब परिजनों को जानकारी दी गयी तो परिजनों ने मौके पर जाकर शवो की शिनाख्त करके पुष्टि की। इस मामले की जानकारी पुलिस को भी दी गयी।

बच्चियों के साथ बर्बरता की आशंका:

मौके पर शवो को बाहर निकालने वाले लोगों ने यह जानकारी दी कि दोनों बच्चियों के पैर पुआल से बांधे गए थे और दोनो बच्चियों की आंखों को फोड़ा गया था। ग्रामीणों ने बच्चियों के साथ इस तरह की बर्बरता के मद्देनजर बलात्कार होने की आशंका भी जाहिर की है। हालांकि पुलिस ने इस मामले पर बलात्कार की थ्योरी को अभी नकारा है।

पुलिस के अनुसार संभवत दोनो बच्चियां सिंघाड़े तोड़ने के लिए तालाब में गयी होंगी जहां पर पड़े पुआल में पैर फस जाने की वजह से डूब कर मृत्यु हुई होगी। आखों के फोड़ने के संबंध में पुलिस ने जानकारी दी है कि तालाब में पड़े लकड़ी इत्यादि की वजह से बच्चियों की आखों में खरोंचे पाई गई है। हालांकि इस मामले में पूरी स्थिति पोस्टमार्टम के बाद ही साफ होगी।

पुलिस की थ्योरी बेहद सहज नहीं करती:

हालांकि पुलिस गैंगरेप और हत्या की थ्योरी को अभी स्वीकार नहीं कर रही है लेकिन मौके पर उपलब्ध लोगों ने सवाल खड़े किए की खेतो में भाजी तोड़ने गयी बच्चियां अचानक तालाब की तरफ क्यो गयी? अगर गयी तो दोनो बच्चियों के पुआल से पैर कैसे बंधे? आंखों में इतने निशान बिना किसी बाहरी चोट के सम्भव ही नहीं है। पोस्टमार्टम में इस मामले की सभी परते खुलनी चाहिए।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com