इन्द्रकांत त्रिपाठी हत्याकांड: शासन ने बड़ी कार्यवाही करते हुए दो पुलिसकर्मियों को किया बर्खास्त

इन्द्रकांत त्रिपाठी हत्याकाँड में तत्कालीन महोबा एसपी मणिलाल पाटीदार के दो गुर्गों पर गाज गिरी है लेकिन एसपी पर अभी भी कोई कार्रवाई नहीं हुयी है।
इन्द्रकांत त्रिपाठी हत्याकांड: शासन ने बड़ी कार्यवाही करते हुए दो पुलिसकर्मियों को किया बर्खास्त
indrakant tripathi murder case mahobaGoogel Image

सनद रहे कि इन्द्रकांत त्रिपाठी हत्याकांड मामले में सरकार के आदेश पर एसआईटी गठित करके जांच की गई थी, जिसके अंतर्गत तत्कालीन थाना प्रभारी देवेंद्र शुक्ला और सिपाही अरुण यादव को भ्रस्टाचार के आरोपों के चलते सेवा से बर्खास्त किया गया है।

सेवा से बर्खास्त किये गए दोनो पुलिसकर्मी:

इन्द्रकांत त्रिपाठी मामले में सरकार के द्वारा की गई बेहद बड़ी कार्यवाही सामने आयी है, दरअसल मृतक इन्द्रकांत त्रिपाठी के परिजनों और अन्य व्यापारियों ने तत्कालीन थाना प्रभारी देवेंद्र शुक्ला पर भ्रस्टाचार के आरोप लगाए थे साथ ही इन्द्रकांत त्रिपाठी हत्याकांड मामले में गठित एसआईटी ने देवेंद्र शुक्ला पर साक्ष्य छुपाने के पुख्ता सबूत पाए थे।

इन्द्रकांत त्रिपाठी हत्याकांड के बाद इस घटना को अलग तरीके से प्रस्तुत किया गया था ताकि इस घटना पर एसपी मणिलाल पाटीदार पर कोई आरोप न लग सके, हालांकि एसआईटी ने इस मामले से जुड़े सभी साक्ष्यों को जुटाया और पाया कि तत्कालीन कबरई थाना प्रभारी की भूमिका न केवल संदिग्ध थी बल्कि उन्होंने पुलिस मैनुअल से हटकर ऐसे कार्य किये जो कि किसी भी लिहाज से कानूनी नहीं साबित होते।

इन्द्रकांत त्रिपाठी हत्याकांड के अलावा कबरई में अन्य दूसरे पत्थर व्यवसायियों जिनमें केशव सविता इत्यादि शामिल है उन्होंने देवेंद्र शुक्ला पर एसपी के निर्देशन पर उत्पीड़ित करने के आरोप लगाए और एसआईटी की जांच में ये सब आरोप सत्य पाए गए।

एसपी पाटीदार के एजेंट के तौर पर करते थे कार्य:

अगर मृतक इन्द्रकांत त्रिपाठी के परिजनों और अन्य व्यापारियों की माने तो देवेंद्र शुक्ला एसपी मणिलाल पाटीदार के एजेंट के तौर पर कार्य करते थे जिनका मुख्य कार्य कबरई के पत्थर व्यवसायियों से वसूली करना था और अगर कोई व्यापारी इससे इतर जाता है तो उसपर मुकदमे लादकर रिश्वत देने के लिए मजबूर करना था।

यहां आपको बताते चले कि एसपी मणिलाल पाटीदार अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है, हालांकि उनके शागिर्दों पर लगातार शिकंजा कसा जा रहा है लेकिन एसपी पाटीदार अभी भी जांच के दायरे से बाहर नजर आ रहे है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com