महिला ने लुटेरे का अंगूठा मुँह से काट कर अलग कर दिया। 
बहादुर महिला ने लुटेरे को अच्छा सबक सीखा दिया।

इसे कहते है दुबे जी का चौबे बनने जाना और छब्बे बनकर लौट आना! ये कहावत सीतापुर की एक महिला ने चरितार्थ कर दी, दरअसल शौच से आती हुई महिला के मंगलसूत्र को छिनने के लिए लुटेरे ने एक दम से हमला किया और महिला ने बहादुरी दिखाते हुए चोर को पस्त कर दिया।

मामला उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले में आने वाले तंबौर थाना क्षेत्र के गांव बसन्तापुर का है। एक महिला रामादेवी पत्नी विक्रम यादव सुबह शौच के लिए गयी थी, लौटते वक्त घात लगाए लुटेरे ने सोने का मंगलसूत्र छीनने की मंशा से महिला पर हमला बोला लेकिन ये हमला लुटेरे के लिए सबसे ज्यादा नुकसान देह साबित हो गया। महिला ने बहादुरी दिखाते हुए न सिर्फ लुटेरे को मुंहतोड़ जवाब दिया बल्कि लुटेरे के अंगूठे को बिना किसी हथियार की मदद से केवल अपने मुंह और दांतों के सहारे काट लिया। काटने पर अच्छी खासी पकड़ बनने से लुटेरे का अंगूठा कट कर गिर गया। हाँथ का अंगूठा काटते ही लुटेरे की सिट्टी पिट्टी गुम हो गयी और और वह महिला का मंगलसूत्र छोड़कर फरार हो गया।

रामादेवी ने बताया कि जब वह शौच से वापस लौट रही थी उसी वक्त एक साइकिल सवार लुटेरा उसके पास पहुँच कर मंगलसूत्र पर झपट्टा मारने लगा तो मैंने सबसे पहले उसपर लोटे से हमला किया और फिर अंगूठा काट कर अलग कर दिया। पूरे गांव में महिला की बहादुरी के चर्चे गूंज रहे है.

घटनास्थल पर आरोपी व्यक्ति का मफलर और कटा हुआ अंगूठा पुलिस को मिल चुका है लेकिन अभी भी आरोपी की पहचान नहीं हो पाई है। पुलिस के अनुसार जल्द ही मामले में वांछित व्यक्ति की गिरफ्तारी करके सलाखों के पीछे भेजा जाएगा.

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com