उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Paytam
Paytam|Google
देश

Paytam के फाउंडर से 20 करोड़ रूपये लूटने की साजिश नाकाम 

Paytam कंपनी के मालिक विजय शेखर शर्मा ने गौतम बुद्ध नगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय पल शर्मा को बताया कि उनके कुछ कर्मचारियों ने कंपनी का डाटा चुरा लिया है .

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली: Paytam ई-वॉलेट कंपनी के संस्थापक विजय शेखर शर्मा के व्यक्तिगत आकड़ों और गोपनीय जानकारी का खुलासा करने की धमकी देने साथ ही उनसे 20 करोड़ रुपये ऐंठने की कोशिश करने के आरोप में Paytam के तीन कर्मचारियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। नोएडा पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार इसमें एक महिला भी शामिल है जो कथित तौर से इस घटना की सूत्रधार मानी जा रही हैं। महिला का नाम सोनिआ धवन हैं और वो Paytam संस्थापक विजय शेखर शर्मा की सचिव है। तीनों कर्मचारियों ने विजय शेखर शर्मा को कंपनी को नुकसान पहुंचाने और उनकी छवि को खराब करने के लिए कंपनी के डेटा लीक करने तथा व्यक्तिगत जानकारी का दुरूपयोग करने की धमकी दी थी।

पेटीएम के मालिक ने पुलिस से शिकायत की थी कि उनके कर्मचारियों ने कंपनी से जुडी जानकारी चुरा ली थी और उन्हें ब्लैकमेल कर रहे थे। वे लोग उनके 20 करोड़ रुपये की मांग कर रहे थे ,जिसके बाद श्री शर्मा में नोएडा के गौतमबुद्ध नगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय पाल शर्मा को इसकी जानकारी दी। पुलिस ने मामले को गंभीरता पूर्वक लेते हुए छान बीन शुरू की। थाना सेक्टर 20 के प्रभारी मनोज कुमार पंत के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। आज पुलिस ने इस मामले को सफलतापूर्वक पूरा करते हुए तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है , साथ ही उनके पास के कथित डाटा भी बरामद कर लिया गया है।

कौन है सोनिया धवन , घटना की सूत्रधार

प्रतिक लोरियल सोसाइटी सेक्टर 120 नोएडा में रहने वाली सोनिया धवन Paytam कंपनी में वाइस प्रेसीडेंट और विजय शेखर शर्मा की सचिव थी। पत्रकार से कंपनी की वाइस प्रेसीडेंट का सफर सोनिया ने अपने काबिलीयत के बल पर जल्दी ही हासिल कर लिया था। वह कम्पनी से पिछले 10 सालों से जुडी हैं।

सोनिया से साजिश के तहत विजय शेखर शर्मा के मोबाइल और कंप्यूटर से गोपनीय और निजी डाटा चोरी क्र लिया था , शर्मा की निजी सचिव होने के कारण वह हमेसा उनके साथ ही रहती थे जिससे उनके कंपनी के सभी कार्यों की जानकारी होती थी। उन्हें मोबाइल और कंप्यूटर का पासवर्ड भी पता होता था। जिसका फायदा उठाते हुए सोनिया ने उसके निजी डाटा चोरी कर लिया। इस साजिश में सोनिया के साथ उसका पति रूपक जैन ,और सहकर्मी देवेंद्र कुमार भी शामिल थे।