Banda journalist anshu gupta amaran ansan
Banda journalist anshu gupta amaran ansan|Google image
देश

बाँदा में समाप्त हुआ पत्रकारों का अनशन, आश्वासन देकर तुड़वाया आमरण अनशन

पत्रकारों के आमरण अनसन के 6 दिन बाद जागी पुलिस, स्थानीय पुलिस अधिकारियों ने न्याय का आश्वासन देकर तुड़वाया अनसन।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

बीते 6 दिनों से जिले के कुछ पत्रकार रेत माफिया के द्वारा की गई मारपीट और स्थानीय पुलिस विभाग की मिलीभगत को लेकर अनशन कर रहे थे, हालांकि मामले को बढ़ते देखकर जिला प्रशासन ने संजीदगी भांप कर मामले को संभाल लिया है।

रेत माफिया ने की थी मारपीट:

ज्ञात हो कि बीते हफ्ते थाना जसपुरा में पत्रकार अंशू गुप्ता के साथ रेत माफिया के द्वारा मारपीट किये जाने के बाद जब पत्रकारों ने सुरक्षा हेतु जसपुरा थाना प्रभारी अर्जुन सिंह के द्वारा आरोपियों का पक्ष लेने और मदद करने की वजह से अपना विरोध जिला प्रशासन के सामने दर्ज कराया तो विभाग ने अपनी हीलाहवाली की वजह से मामले को तरजीह दी, इसके बाद करीब आधा सैकड़ा पत्रकारों ने जिला मुख्यालय में कचहरी के सामने अशोक लाट के नीचे करीब 6 दिनों तक आमरण अनशन जारी रखा।

आत्मदाह की घोषणा के बाद चेता विभाग:

जिला पुलिस प्रशासन की हीलाहवाली और तरजीह न देने की वजह से पत्रकारों ने जिला प्रशासन को एक चेतावनी जारी की। पत्रकारों ने अपनी चेतावनी में बताया कि अगर उनको न्याय नही मिलता है तो अगले दिन पीड़ित जिला अधिकारी के कार्यालय में जाकर आत्मदाह करेगा। इसके बाद जिला पुलिस प्रशासन के हाँथ पैर फूल गए। ज्ञात हो कि जिले में पहले भी पुलिस अधिकारियों और रेत माफिया के गठजोड़ की घटनाएं सामने आ चुकी है इसके बावजूद भी जिला पुलिस प्रशासन अभी तक अपने दाग नही छुड़ा पाया है। हालांकि मामले को बड़े स्तर तक जाते देखकर पुलिस विभाग के पुलिस उपाधीक्षक आलोक मिश्रा ने मौके पर जाकर अनशनकारियों को जूस पिलाकर अनशन तुड़वाया और यह भरोसा दिया कि आरोपी जल्द ही सलाखों के पीछे पहुँचाया जाएगा तथा पुलिस की मिलीभगत की जांच कराना सुनिश्चित किया जाएगा।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com