उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
File Picture Mayawati
File Picture Mayawati|Google
देश

बसपा अब ब्राम्हणों के पैर छूकर सत्ता को हासिल करेगी। 

जिस कुव्यवस्था को लेकर अंबेडकर साहब के विचारों को आधार बनाकर कांशीराम ने बसपा की नींव रखी थी, शायद अब बसपा उसी व्यवस्था को अपने कार्यकर्ताओं के सर पर लादकर सत्ता की सीढ़ियों तक पहुचेगी। 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

एक समय था जब चुनाव के शोर के बीच नेपथ्य में एक आवाज गूंजी थी "तिलक तराजू और तलवार इनको मारो जूते चार" जिसका सार था तिलक अर्थात ब्राम्हण, तराजू जो वणिक या वैश्य वर्ग को संबोधित करता था और तलवार जो क्षत्रियों का चिन्ह थी, इनको जूते मारने का एलान किया गया था। लेकिन जब दलित एकता का घेरा टूटा तो बसपा ने नया नारा दिया "तिलक तराजू और तलवार, सब हांथी पर हुए सवार "खैर वक्त बदल रहा है, पिछले चुनाव में बुआ-बबुआ ने एक साथ मिलकर चुनाव लड़ा और इसका सीधा-सीधा लाभ भाजपा को हुआ और पक्का नुकसान सपा को, लेकिन इस बार बसपा अपनी रणनीति बिल्कुल से बदल रही है, इस बार बसपा अपना रास्ता साफ करने के लिए ब्राम्हण महासम्मेलन के अलावा ब्राम्हण बाहुल्य गांवों में जाकर दलित कार्यकर्ताओं से ब्राम्हणों के पैर लगवा कर आशीर्वाद लेगी और उन्हें अपनी सामाजिक अभियांत्रिकी का लाभ बताएगी।

बिल्हौर में बनी रणनीति :

बिल्हौर के बसपा नेता कमलेश चंद्र दिवाकर ने मीडिया को बताया कि वसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र के आदेश पर पार्टी के दलित कार्यकर्ता विधानसभाओं के ब्राम्हण आबादी वाले गांवों में जाकर पैर छूकर ब्राम्हणों से आशीर्वाद लेंगे ताकि इस बार सत्ता पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई जा सके, जानकारों की माने तो बसपा ने यह चाल समाज के उस तबके को लुभाने के लिए चली है जिससे उक्त वर्ग को उसकी उच्चता का आभास कराया जाए ताकि वह बसपा का समर्थन करके वोटों की संख्या बढ़े और पार्टी का वोट शेयर पिछली बार से ज्यादा रहे।

पार्टी पहले भी कर चुकी है प्रयोग :

ऐसा नहीं है कि दलित उत्थान का दम भरने वाली पार्टी ऐसा पहली बार कर रही है, पिछली बार जब बसपा सुप्रीमो मायावती सत्ता पर काबिज हुई थी तभी मायावती ने ब्राम्हण और क्षत्रिय समाज को अपनी तरफ मोड़ने में सफलता पाई थी, यही कारण है कि संगठन में ब्राम्हण भाई चारा समाज जैसे घटकों का गठन किया गया था जो आज तक कायम है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।