sanjay raut comment on sonu sood
sanjay raut comment on sonu sood|Google Image
देश

संजय राउत ने सोनू सूद के खिलाफ खोला मोर्चा, कहा सोनू राजनैतिक मोहरा बन चुके है

सोनू सूद ने लॉक डाउन के दौरान मजदूरों की मदद करके पूरे देश का दिल जीत लिया है लेकिन कुछ लोग ऐसे भी है जिन्हें इसमें भी राजनीती नजर आ रही है।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

जनाब ये भारत की राजनीति है जहाँ आप अपनी जिम्मेदारियों में नाकाम हो जाते है वहीँ आपका राजनीतिक समीकरण साधने वाला मुँह कभी बंद नही होता है। यही कुछ हाल शिवसेना के संजय राउत और शिवसेना के साथ हुआ है जहाँ एक ओर कोविड 19 के संक्रमण को रोकने में महाराष्ट्र सरकार पूरी तरह नाकाम रही है वहीँ शिवसेना के नेता मुँह खोलने से बाज नहीं आ रहे हैं।

संजय ने खोला मुँह:

कोरोना संक्रमण को लेकर महाराष्ट्र की शिवसेना सरकार हर मोर्चे पर मुँह की खा रही है वहीँ शिवसेना के नेता संजय जो अपने बड़बोलेपन (sanjay raut comment on sonu sood) के लिए जाने जाते है अबकी बार उनका निशाना देशभर में मजदूरों की मदद करके नेशनल हीरो बन चुके सोनू सूद बने हैं। संजय को उनके निस्वार्थ कार्यो में भी राजनीति नजर आने लगी है शायद यही कारण है कि संजय ने सोनू सूद के इस कार्य को अभिनय की श्रेणी करार दे दिया है। संजय राउत ने कहा:

सोनू सूद पर्दे पर अच्छा रोल निभाते हैं और सड़क पर उतर कर भी उन्होंने अच्छा रोल अदा किया। फिल्मी पर्दे पर एक डायरेक्टर होता है वैसे ही इनके पीछे कोई पॉलिटिकल डायरेक्टर हो सकता है: संजय राउत शिवसेना महाराष्ट्र

सोनू सूद अपने कार्यो को लेकर प्रसिद्ध हो चुके है:

बिहार में प्रवासी मजदूरों को उनके प्रदेशों में भेजने को लेकर सोनू ने बिना किसी सरकारी सहायता के खुद के पैसों के बल पर अभियान चलाया। इस दौरान वो मीडिया से भी बचते रहे लेकिन संजय राउत पहले व्यक्ति नहीं है जिन्होंने सोनू पर उनके काम को लेकर आरोप लगाए गए हैं। इससे पहले स्वघोषित सर्वोच्च पत्रकार और प्रोफेसर दिलीप मंडल ने भी उनकी उच्च जाति के होने के कारण ज्यादा मीडिया कवरेज के लिए आरोप लगाए थे और रही सही कसर संजय ने पूरी कर दी। सोनू पर राजनीति प्रेरित होने का आरोप लगाया है।

सोनू की वर्तमान प्रसिद्धी का अंदाजा इस तरह से लगाया जा सकता है कि लोगों द्वारा सोनू को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनाने की मांग चल रही है शायद यही कारण है कि संजय राउत की पार्टी समेत अन्य दलों का समीकरण बिगड़ा हुआ नजर आ रहा है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com