RBI गवर्नर शक्तिकांत दास
RBI गवर्नर शक्तिकांत दास|IANS
देश

RBI के नए गवर्नर शक्तिकांत दास ने संभाला कार्यभार, 2016 में नोटबंदी के दौरान निभाई थी बेहद अहम भूमिका

शक्तिकांत दास का जन्म 26 फरवरी 1957 को हुआ था , उन्होंने इतिहास में MA किया है और तमिलनाडु काडर के IAS अधिकारी हैं। वे भारत के शेरपा G-20 में सदस्य भी हैं। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली: सरकार ने मंगलवार को शक्तिकांत दास को भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) का नया गवर्नर नियुक्त किया है। उर्जित पटेल ने सोमवार को अचानक गवर्नर पद से इस्तीफा दे दिया था। एक आधिकारिक बयान में कहा गया है, "कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने आर्थिक मामलों के विभाग के पूर्व सचिव शक्तिकांत दास को रिजर्व बैंक के गवर्नर पद पर तीन साल के लिए नियुक्ति को मंजूरी दे दी।"

दास 1980 बैच के तमिलनाडु काडर के आईएएस अधिकारी हैं। वह वित्त आयोग के सदस्य रह चुके हैं। उर्जित पटेल ने रिजर्व बैंक के गवर्नर पद से सोमवार को 'निजी कारणों' का हवाला देते हुए तत्काल प्रभाव से इस्तीफा दे दिया था।

नियुक्ति के बाद शक्तिकांत दास आज बुधवार को भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के 25वें गवर्नर के रूप में कार्यभार संभाल लिया है। दास ने ट्विटर के जरिये इसकी जानकारी दी, उन्होंने ट्वीट कर कहा,"रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर के रूप में कार्यभार संभाल लिया। शुभकामनाएं देने के लिए आप सबका धन्यवाद।"

शक्तिकांत दास वित्त सचिव रहे हैं और RBI के गवर्नर बनने से पहले वें15वें वित्त आयोग के सदस्य थे। आपको बता दें कि, उर्जित पटेल के इस्तीफे के बाद कयासों में नए गवर्नर के तौर पर शक्तिकांत दास का नाम सबसे आगे चल रहा था। 8 नवंबर 2016 में हुए नोटबंदी के दौरान दास ने बेहद अहम भूमिका निभाई थी।

दास ने भारत के आर्थिक मामलों के सचिव, राजस्व सचिव और उर्वरक सचिव के बतौर भी काम किया है। वित्त मंत्री अरुण जेटली के नजदीकी शक्तिकांत दास को भारत के सबसे शक्तिशाली लोगों में से एक माना जाता था।

आपको बता दें कि, उर्जित पटेल ने रिजर्व बैंक के गवर्नर पद से सोमवार को 'निजी कारणों' का हवाला देते हुए तत्काल प्रभाव से इस्तीफा दे दिया था।

दरअसल RBI और केंद्र सरकार के बीच लंबे समय से अर्थव्यवस्था में नकदी (लिक्विडिटी) और ऋण (क्रेडिट) की कमी को लेकर खींचातान चल रही थी, जिसके परिप्रेक्ष्य में 19 नवंबर को आरबीआई बोर्ड की एक असाधारण बैठक भी हुई थी। पटेल ने चार सिंतबर, 2016 को तीन वर्ष के कार्यकाल के लिए आरबीआई गवर्नर का पद संभाला था। इससे पहले रिजर्व बैंक के तत्कालीन गवर्नर रघुराम राजन के कार्यकाल में विस्तार नहीं किया गया था।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com