शाहीन बाग आंदोलन में गोली चलाने वाले को भाजपा में मिली जगह, बवाल कटने पर पार्टी ने बाहर निकाला

शाहीन बाग प्रदर्शन के दौरान गोली चलाने वाला बीजेपी में शामिल हुआ, जानकारी होने पर पार्टी ने सदस्यता रद्द की।
शाहीन बाग आंदोलन में गोली चलाने वाले को भाजपा में मिली जगह, बवाल कटने पर पार्टी ने बाहर निकाला
शाहीन बाग प्रदर्शन के दौरान गोली चलाने वाला कपिल गुज्जर बीजेपी में शामिल हुआGoogle Image

मामले की शुरुआत तब हुई जब सोशल मीडिया पर कुछ ऐसे फुटेज और फोटोज वायरल हुई जिनमें भाजपा नेताओं द्वारा शाहीन बाग में गोलीकांड करने वाले कपिल गुज्जर को भाजपा की सदस्यता देने की पुष्टि की गई, हालांकि बवाल होने पर इस सदस्यता को आनन फानन में रद्द भी कर दिया गया।

गोलीबाज को भाजपा की सदस्यता:

आपको शायद शाहीन बाग का मामला याद होगा, जहाँ एक तरफ सीएए और एनआरसी के समर्थन में पुलिस पर शाहरुख द्वारा बंदूक तानी गयी और अन्य लोगों द्वारा गोली चलायी गयी इसके जवाब में गाजियाबाद के युवा कपिल गुज्जर द्वारा इन्हीं आंदोलनकारियों पर हवाई फायर किए गए। हालांकि पुलिस के पहुँचा पर कपिल द्वारा सरेंडर किया गया और बताया कि वह इन उन्मादियों को जवाब देना चाहता था। अब उसी कपिल गुज्जर के बारे में नई खबर आई है, सोशल मीडिया में बीते दिन कुछ वीडियो और तस्वीरें वायरल हुई जिसमें कपिल गुज्जर भाजपा के नक़्शे निशानों के साथ भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर रहा था, इस मामले को लेकर सभी जगह हड़कंप मच गया। लोगों ने आरोप।लगाया कि भाजपा मानो कोई गंगा नदी हो चुकी है जो लोगों के पाप धुलती है, कोई भी अपराधी भाजपा की सदस्यता ग्रहण करके अपनी छवि सुधार सकता है।

भाजपा ने लिया संज्ञान:

हालांकि मामले के वायरल होने के बाद उत्तर प्रदेश भाजपा नेतृत्व ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए पार्टी के महानगर स्तरीय संगठन के पदाधिकारियों को लताड़ा और हर हालत में गोली कांड के आरोपी कपिल गुज्जर की सदस्यता को रद्द करने के आदेश जारी किए गए।

इस मामले पर पार्टी के महानगर स्तरीय नेतृत्व ने अपना एक बयान भी जारी किया है।

इस मामले में गाजियाबाद महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा ने जारी बयान में कहा कि आज पार्टी में कुछ नए युवाओं को भाजपा में शामिल कराया गया था जिसमें शामिल कपिल गुज्जर ने भी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली। हालांकि पार्टी और पदाधिकारियों को कपिल गुज्जर के गोलीकांड और विवादित शाहीन बाग कांड के बारे में कोई जानकारी नही थी। मामले के संज्ञान में आने पर उक्त व्यक्ति की प्राथमिक सदस्यता भी समाप्त कर दी गयी है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com