शहीद डिप्टी एसपी देवेंद्र मिश्रा
शहीद डिप्टी एसपी देवेंद्र मिश्रा |Google Image
देश

शहीद डिप्टी एसपी करेंगे एक मामले की जांच, यूपी पुलिस की लापरवाही का नया नमूना

बिकरू कांड में शहीद हुए डिप्टी एसपी देवेंद्र मिश्रा को यूपी पुलिस ने जिन्दा कर दिया, और उन्हें एक मामले की जाँच करने का जिम्मा सौंप दिया

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

उत्तर प्रदेश पुलिस हमेशा से चर्चा में रहती है फिर चाहे वह मामला दरियादिली का हो या अपनी पुलिसिया हरकतों की, ताजा मामला ऐसे ही एक गड़बड़झाले से जुड़ा हुआ है, जहां पर बिकरू कांड में शहीद सीओ (डिप्टी एसपी) देवेंद्र मिश्रा को मुख्य जांच अधिकारी बना दिया गया है, हालांकि अब खुलासे के बाद महकमे में हड़कंप है।

वाह रे विभाग, शहीद को जिंदा कर दिया:

पुरानी कहावतों और दृष्टांतो में यह सुना जाता है कि यूपी पुलिस हिरण से भी शिकार करने का जुर्म कुबूल करा सकती है, ये तो हुई मजाकिया लहजे की बात लेकिन इसी तरह का कुछ काम किया है उत्तर प्रदेश पुलिस ने, दरअसल इसे विभागीय लापरवाही का नतीजा कहे या फिर गलत जानकारी के आधार पर पुलिस का काम करना। लेकिन इस मामले के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। अधिकारियों को क्या-क्या जवाब देना है इसकी तैयारी की जा रही है।

हत्या की जांच से जुड़ा है मामला:

दरअसल इस मामले की बुनियाद एक हत्या से जुड़ी हुई है, बीते 3 अक्टूबर को कानपुर के बिल्हौर थाना क्षेत्र में आने वाले गांव ददरपुर काथा निवासी रामप्रसाद पुत्र गोधन दिवाकर की हत्या खेत मे रखवाली करते समय कर दी गयी थी। इस सम्बंध में स्थानीय बिल्हौर पुलिस ने मुकदमा संख्या 390/20 में धारा 302 /3( हत्या) मुकदमा पंजीकृत किया था लेकिन इस मामले में अभी तक पुलिस विभाग ने न कोई जांच शुरू की और न ही हत्यारों की धर पकड़ की कोई योजना बनाई। इस पर मृतक के पुत्र द्वारा मुख्यमंत्री कार्यालय को एक पत्र लिखकर कार्यवाही न करने का आरोप लगाया गया लेकिन इस मामले में बवाल तब उठ खड़ा हुआ जब इस मामले में जांच अधिकारी का नाम उजागर हुआ, दरअसल बिल्हौर थाना पुलिस ने इस मामले में जांच करने के लिए बिकरू कांड में शहीद हुए डिप्टी एसपी देवेंद्र मिश्रा को नामित कर दिया, जबकि उक्त पुलिस अधिकारी अब इस दुनिया मे भी नही है।

विभाग में मचा हड़कंप:

हालांकि आपको बताते चले कि इस मामले के बारे में जानकारी होने के बाद हड़कंप मचा हुआ है, कोई भी विभागीय अधिकारी इस मामले पर कुछ भी बोलने से बच रहा है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com