संजय झा ने मन की बात की तो कांग्रेस से निकाल फेंके गए
कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व को सलाह देना कितना महंगा साबित होता है इसका ताजा नमूना सचिन पायलट और संजय झा है, यहाँ जिसने भी कांग्रेस के उच्च स्तर के नेताओं का विरोध किया उसे पार्टी से ही बेदखल कर दिया गया।
संजय झा ने मन की बात की तो कांग्रेस से निकाल फेंके गए
Congress party is the property of Gandhi FamilyGoogle Image

कांग्रेस पार्टी में सचिन पायलट का समर्थन करना कांग्रेस पार्टी के नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय झा के लिए काफी महंगा साबित हुआ है। दरअसल राजस्थान में चल रही राजनैतिक उठापटक के बीच संजय झा ने अपने राजनैतिक मंतव्यों को उजागर कर दिया नतीजन पार्टी ने उन्हें पार्टी विरोधी गतिविधियों का हवाला देकर पार्टी से निकाल दिया। हालांकि इस मामले को सीधे तौर पर बड़े नेताओं की अवमानना की तरह देखा जा रहा है, महाराष्ट्र कांग्रेस ने उन्हें एक लेटर जारी करके पार्टी विरोधी गतिविधियों में रहने का आरोपी बनाया है और उन्हें तत्काल प्रभाव से सस्पेंड करने के आदेश जारी किए गए हैं।

Congress Spokesperson Sanjay Jha Suspended from Congress Party
Congress Spokesperson Sanjay Jha Suspended from Congress Party Twitter

कौन है संजय झा?

कांग्रेस के नेता है और पार्टी के प्रवक्ता भी, हिंदी और अंग्रेजी चैनलों में जाकर अपनी पार्टी का पक्ष लंबे समय से रखते आ रहे हैं लेकिन राजस्थान सरकार की डगमगाती नैया को देखकर संजय अपना पायलट प्रेम छुपा नहीं पाए और ट्वीटर पर कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को सलाह दे बैठे। सलाह का सार था

"राजस्थान की राजनैतिक समस्या का सीधा और सरल उपाय है कि सचिन पायलट को राजस्थान का मुख्यमंत्री बनाया जाए, अशोक गहलोत जो तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके है उन्हें पार्टी में सीनियर पद की जिम्मेदारी दी जाए जिससे वो राज्य में कमजोर होती पार्टी को नवजीवन दे सकें और राजस्थान पार्टी की कांग्रेस कमेटी में नए नेता को रखा जाए"

लोगों ने कहा कांग्रेस में बोलने की आजादी ही नहीं है:

लोगों ने सचिन पायलट और सिंधिया मामले को लेकर कांग्रेस पर आरोप लगाने शुरू कर दिए वही संजय झा के मामले को लेकर अब यह मुद्दा मुखर होता चला जा रहा है। जिसकी वजह से लोग कांग्रेस के खिलाफ बोलने से नहीं बाज आ रहे। लोगों का कहना है कि कांग्रेस में कुछ भी नया बोलने से नेताओं को सजा दी जा रही है और इस पार्टी में भाई भतीजावाद के अलावा कुछ नया है ही नहीं।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com