Uday Bulletin
www.udaybulletin.com
सामाजिक कार्यकर्ता तृप्ति देसाई
सामाजिक कार्यकर्ता तृप्ति देसाई|Google Image
देश

सबरीमाला मंदिर में तृप्ति देसाई को नहीं मिला प्रवेश, अभी भी कोच्चि हवाईअड्डे पर तृप्ति

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और संघ परिवार के कार्यकर्ता हवाईअड्डे के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं, जिस वजह से ये हवाईअड्डे से बाहर नहीं निकल पा रही हैं।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

कोच्चि: हिंदूवादी प्रदर्शनकारियों के भारी विरोध के बीच सबरीमाला मंदिर का दर्शन करने यहां आईं सामाजिक कार्यकर्ता तृप्ति देसाई और छह अन्य महिलाएं लगभग आठ घंटे बाद भी हवाईअड्डे पर ही मौजूद हैं। तृप्ति और उनके साथ आया समूह शुक्रवार तड़के लगभग 4.45 बजे यहां पहुंचा। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और संघ परिवार के कार्यकर्ता हवाईअड्डे के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं, जिस वजह से ये हवाईअड्डे से बाहर नहीं निकल पा रही हैं।

जब तृप्ति यहां पहुंचीं, तब यहां केवल 100 प्रदर्शनकारी थे। अब यह संख्या बढ़कर हजारों में पहुंच गई है और प्रदर्शनकारी हवाईअड्डे के अंदर व बाहर सभी प्रवेश और बाहर निकलने वाले गेट पर डेरा जमाए हुए हैं। भाजपा के वरिष्ठ नेता भी हवाईअड्डे पर पहुंच चुके हैं।

भाजपा की प्रवक्ता शोभा सुरेंद्रन ने कहा, "हमें उन्हें यहां से जाने के लिए कहना होगा, क्योंकि हम उन्हें यहां से बाहर जाने की इजाजत नहीं देंगे। तृप्ति देसाई को हमारे मुख्यमंत्री के जैसे नास्तिकों का समर्थन हासिल है जो यह देखने के लिए प्रतिबद्ध हैं कि एक महिला मंदिर में प्रवेश करे।"

उन्होंने कहा, "वह और कुछ नहीं, बल्कि एक कार्यकर्ता है जो सबरीमाला की परंपराओं के प्रति नाममात्र का भी आदर नहीं रखती। इसलिए यह उत्तम होगा कि विजयन उन्हें जल्द से जल्द यहां से वापस भेजें।"

पुलिस की अपील के बावजूद तृप्ति ने कहा कि वह भगवान अयप्पा मंदिर में प्रवेश किए बिना नहीं लौटेंगी। भगवान अयप्पा मंदिर के समीप निलाक्कल शिविर से मीडिया से बात करते हुए देवासम मंत्री कडकमपल्ली सुरेंद्रन ने कहा कि प्रधानमंत्री और केरल व महाराष्ट्र के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखने के बाद तृप्ति कोच्चि आ गईं।

Also read: आज खुलेंगे सबरीमाला मंदिर के पट: सामाजिक कार्यकर्ता तृप्ति देसाई कोच्चि हवाईअड्डे पर फंसी, धारा 144 लागू , BJP का प्रदर्शन 

एर्नाकुलम जिले के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी, जिला प्रशासन के अधिकारी और हवाईअड्डे के अधिकारी तृप्ति देसाई से बात कर रहे हैं और उन्हें मुंबई वापस जाने के लिए मना रहे हैं।

आपको बता दें कि, हवाईअड्डे पर पहुंचने से पहले तृप्ति देसाई ने केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन से सुरक्षा मुहैया कराने का आग्रह किया। मंदिर के कपाट शुक्रवार को शाम पांच बजे खुलेंगे और दो महीनों तक खुले रहेंगे।