उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Aryavart Gramin Bank Agra Robbery
Aryavart Gramin Bank Agra Robbery|Uday Bulletin
देश

बदमाशों का दुस्साहस दिन दहाड़े ही लूट लिया बैंक।

भले ही योगी सरकार और पुलिस समूचे प्रदेश में ला एंड ऑर्डर को लेकर बड़ी शेखी बघारती घूम रही हो, लेकिन आगरा का ताजा मामला इस बारे में अलग ही कहानी कह रहा है,मामला दिन दहाड़े बैंक लूट से जुड़ा हुआ है 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

आपको याद हो कि पिछले कुछ दिनों पहले शमसाबाद की ज्वैलर्स लूट का मामला उत्तर प्रदेश पुलिस के गले की फांस बना हुआ था कि आगरा परिक्षेत्र में आने वाली आर्यावर्त बैंक ( आगरा - जलेसर मार्ग) में हुई दिन दहाड़े लूट ने पुलिस और उप्र की कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान लगा दिए हैं। बदमाशों ने बेहद शातिराना तरीके से बैंक कर्मियों को बंधक बनाया और बैंक से कैश लूटकर फरार भी हो गए, मामले पर पुलिस के माथे पर चिंता की लकीरें नजर आ रही हैं।

लंच टाइम पर हुई डकैती :

जानकारी के अनुसार बैंक में लूट दोपहर के आस-पास उस वक्त पर हुई जब सभी बैंककर्मी लंच कर रहे थे। तभी करीब आधा दर्जन अपाचे मोटरसाइकिल सवार बदमाश बैंक पहुंचे और बिना किसी रुकावट के बैंक में घुस गए। वहाँ उन्होंने बैंक मैनेजर आर बी माहेश्वरी की कनपटी पर तमंचा रखकर कैश के बारे में पूंछताछ शुरू की, पैसों की जानकारी न देने पर बदमाशों ने बैंक मैनेजर के साथ मारपीट की और गोली मारने की धमकी दी। जब बैंक में उपस्थित सभी बैंक कर्मियों द्वारा बदमाशों की हरकत का विरोध किया गया तो उन्होंने सभी बैंक कर्मचारियों को हथियार के बटो से पीटा और बैंक में रखा हुआ करीब तीन लाख रुपये का कैश लेकर भाग निकले। साथ में बदमाशों द्वारा सीसीटीवी कैमरे का मुख्य डाटा संग्राहक डीवीआर भी ले जाया गया।

बदमाशों को कैश की पूरी जानकारी थी :

पुलिस के अनुसार प्रथम दृष्टया यह वारदात किसी जानकार व्यक्ति के द्वारा कराई गई है क्योंकि बैंक में आज कैश आना था इसके बारे में गिने चुने लोगों को जानकारी थी। साथ ही बदमाशों ने लंच का वक्त ही डैकिती के लिए चुना, और डकैती के बाद सभी बदमाश सफेद रंग की अपाचे मोटरसाइकिल पर कैश लेकर फरार हो गए। पुलिस ने जांच में बैंक के अंदर बदमाशो द्वारा छोड़ा गया बैग बरामद किया है जिसमे करीब 16000 रुपये बरामद किए।

पुलिस ने की सीमा सील:

बैंक डकैती को लेकर पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है, अपराधियों की धरपकड़ के लिए पुलिस जितने अभियान चला सकती है वह चला रही है, फिर चाहें वह संदिग्धों की धरपकड़ हो या फिर आने-जाने वाले हर वाहन की चेकिंग हो, आस-पास के क्षेत्र में वाहनों को लेकर सघन चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।