उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी|IANS
देश

अफ़सर थक गए हैं| भरोसे टूट गए हैं| लोकतंत्र रो रहा है- राहुल गाँधी 

गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘दिल्ली में ‘चौकीदार ही चोर’ नामक एक क्राइम थ्रिलर चल रहा है।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सीबीआई अधिकारी एम के सिन्हा द्वारा उच्चतम न्यायालय में दिए हलफनामे की पृष्ठभूमि में मंगलवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला बोला और कहा कि दिल्ली में 'चौकीदार ही चोर' नामक क्राइम थ्रिलर चल रहा है और लोकतंत्र रो रहा है।

गांधी ने ट्वीट कर कहा, 'दिल्ली में 'चौकीदार ही चोर' नामक एक क्राइम थ्रिलर चल रहा है। नए एपिसोड में सीबीआई के डीआईजी द्वारा एक मंत्री, एनएसए, कानून सचिव और कैबिनेट सचिव के खिलाफ गंभीर आरोप हैं।'

उन्होंने दावा किया, 'वहीं गुजरात से लाया उसका साथी करोड़ों वसूली उठा रहा है। अफ़सर थक गए हैं। भरोसे टूट गए हैं। लोकतंत्र रो रहा है।'

कांग्रेस ने सीबीआई के डीआईजी एम के सिन्हा द्वारा उच्चतम न्यायालय में दाखिल हलफनामे में लगाये गये भ्रष्टाचार के आरोपों की स्वतंत्र जांच की सोमवार को मांग की थी और कहा था कि उनसे प्रधानमंत्री कार्यालय और मोदी सरकार के कामकाज पर सवाल खड़े हो गये हैं।

पार्टी ने यह भी कहा कि वह संसद में यह मुद्दा उठायेगी। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि डीआईजी मनोज कुमार सिन्हा ने अपने हलफनामे में सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के खिलाफ जांच में दखल के कथित प्रयासों को लेकर केंद्रीय मंत्री हरिभाई पारथीभाई चौधरी, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और केंद्रीय सतर्कता आयुक्त के वी चौधरी के नाम लिये हैं।

पारथीभाई चौधरी, के वी चौधरी और डोभाल के कार्यालयों की तरफ से फिलहाल कांग्रेस के आरोप पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। हालांकि, सोमवार को मंत्री के कार्यालय के एक अधिकारी ने कहा कि उन्हें मामले की जानकारी नहीं है।

आपको बता दें कि, सीबीआई के वरिष्ठ अधिकारी मनीष कुमार सिन्हा ने सुप्रीम कोर्ट में दायर अपनी याचिका में आरोप लगाया है कि CBI के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के मामले में शिकायतकर्ता हैदराबाद व्यवसायी सतीश बाबू सना ने पूछताछ के दौरान बताया कि केन्द्रीय मंत्री को कुछ करोड़ रुपये दिये गये थे। साथ ही उन्होंने NSA अजीत डोभाल का भी नाम लिया है। जिसके बाद यह मामला टूल पकड़ता जा रहा है। इस आरोप के बाद केन्द्रीय कोयला राज्य मंत्री हरिभाई पी चौधरी ने इस आरोप पर पलटवार करते हुए मनीष कुमार सिन्हा के आरोपों को ‘‘आधारहीन और दुर्भावनापूर्ण'' बताया है। उन्होंने कहा कि यदि ये आरोप साबित हो जाते हैं तो वह राजनीति छोड़ देंगे।

भाषा

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।