पबजी मोबाइल ने किया आखिरी चिकन डिनर शुक्रवार को पबजी मोबाइल का आखिरी दिन साबित हुआ

जुम्मे के दिन चीन का प्रसिद्ध मोबाइल गेम भरता में पूरी तरह से बैन हो गया, मोदी सरकार चीन के साथ सख्ती के मूड में है
पबजी मोबाइल ने किया आखिरी चिकन डिनर शुक्रवार को पबजी मोबाइल का आखिरी दिन साबित हुआ
PUBG Ban in indiaGoogle Image

30 अक्टूबर दिन शुक्रवार का दिन स्मार्टफोन की दुनिया मे बेहद चर्चित गेम पबजी मोबाइल पूर्णतया बंद कर दिया गया, हालांकि इससे पहले ही 2 सितंबर 2020 को केंद्र सरकार के सूचना प्रसारण और आईटी मिनिस्ट्री के आदेश पर इसे एप स्टोर से बैन किया गया था, इस एप पर अन्य चायनीज एप्स की तरह भारत के उपयोगकर्ताओं की सूचना को चीनी सरकार के साथ साझा करने की शंकाओं के तहत बैन किया गया था।

शुक्रवार का दिन आखिरी साबित हुआ:

वैसे तो केंद्र सरकार के आदेशों के आधार पर पबजी मोबाइल गेम को चीनी विवाद और डाटा सुरक्षा के मद्देनजर भारत मे बीते सितंबर में ही लाल झंडा दिखाया गया था लेकिन उसके बाद भी वीपीएन जैसे तीन तिकड़म लगाकर लोगों द्वारा इस खेल को लगातार खेला जा रहा था अथवा लोग इसे तब खेल पा रहे थे जिनके मोबाइल में यह पहले से इंस्टॉल था। लेकिन पबजी मोबाइल को बाकायदा नोटिस देकर भारत मे इसकी सारी सेवाओं को समाप्त कर दिया गया। आपको बताते चले कि यह गेम भारत मे वर्तमान ऑनलाइन गेम की दुनिया का सबसे लोकप्रिय बैटल रॉयल खेल था।

लोगों ने पबजी की विदाई पर अलग-अलग तरह के रिएक्शन दिए....

इस मामले पर पबजी मोबाइल ने बाकायदा एक विदाई नोट लिखकर उपयोगकर्ताओं को अपने जाने का कारण और मजबूरी बतायी, पबजी मोबाइल ने बताया कि वह भारत के नियम कानून और कायदों का भरपूर सम्मान करते है तथा वो उपयोगकर्ताओं के डेटा की सुरक्षा को लेकर प्रतिबद्ध है, सरकार के अंतरिम आदेशों के अनुसार उन्होंने यह कदम उठाया है।

एक बार फिर से लौट आने की बढ़ी उम्मीदे:

यहां आपको बताते चले कि पबजी मोबाइल पूरी तरह शट डाउन होने के बाद भी इसके प्रेमियों की उम्मीद पूरी तरह खत्म नहीं हुई है बल्कि कुछ संकेतो ने लोगों को यह सोचने पर मजबूर कर दिया है कि जल्द ही पबजी मोबाइल भविष्य में नए कलेवर और नए अवतार में भारत मे लौट आएगा।

दरअसल भारत मे अपनी दुकान बंद करने के बाद ही पबजी कारपोरेशन ने चीनी कंपनी टेनसेंट से अपना करार खत्म कर लिया है, आपको बताते चले कि पबजी मोबाइल को एशिया में डिस्ट्रीब्यूशन का जिम्मा था, जिसमें डेटा रखरखाव भी शामिल था, इसके बाद लोगों में यह उम्मीद जगी है कि पबजी कारपोरेशन जल्द ही इसके लिए नए विकल्प तलाश कर भारत मे लौट सकता है, सनद रहे इस मामले में किसी अन्य नए पार्टनर के साथ सहयोग के बारे में बाते सामने आयी है, हालांकि इसके बारे में कोई भी जानकारी पुष्ट नही है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com