उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
प्रधानमंत्री मोदी ने आज सरदार वल्लभ भाई पटेल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च सेंटर का उद्घाटन किया
प्रधानमंत्री मोदी ने आज सरदार वल्लभ भाई पटेल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च सेंटर का उद्घाटन किया|BJP-twitter
देश

PM Modi ने गुजरात में किया 750 करोड़ रुपए की लागत से बने अस्पताल का उद्घाटन

PM Modi ने कहा डेढ दशक से गुजरात में मेडिकल टूरिज्म भी बढ़ा है। विदेश से लोग यहां इलाज के लिए आते हैं। सरदार साहब के नाम से बना ये अस्पताल स्वास्थ्य़ क्षेत्र को मजबूती देगा। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

अहमदाबाद: प्रधानमंत्री मोदी ने आज गुजरात के अहमदाबाद में 750 करोड़ रुपये की लागत से बने सरदार वल्लभ भाई पटेल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च सेंटर का उद्घाटन किया है। उद्घाटन के मौके पर प्रधानमंत्री नें कहा कि डेढ दशक से गुजरात में मेडिकल टूरिज्म भी बढ़ा है। विदेश से लोग यहां इलाज के लिए आते हैं। सरदार साहब के नाम से बना ये अस्पताल स्वास्थ्य़ क्षेत्र को मजबूती देगा।

प्रधानमंत्री ने कहा सरदार बल्लभ भाई ने जिस शहर से अपना राजनीतिक दायित्व का सफर शुरु किया था, उस शहर का इस तरह से फलते-फूलते देख और यहां ऐसे आधुनिक अस्पताल बनने से सरदार साहब की आत्मा को शांति मिलेगी। जिसके बाद पीएम मोदी ने इस अवसर पर सरकार की आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Scheme) की उपलब्धियों को भी बताया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज देश में 50 करोड़ गरीब भाइयों और बहनों को यह विश्वास मिला है कि गंभीर बीमारियों की स्थिति में सरकार उनके साथ खड़ी है। उनमें विश्वास जगा है कि बिना पैसे के भी वे उपचार करा सकते हैं। इसकी सफलता का अंदाज इसी बात से लगाया जा सकता है कि केवल 100 दिन के अंदर की 7 लाख गरीबों का इस योजना के माध्यम से इलाज संभव हुआ। इस योजना से हर दिन लगभग 10 हजार लोगों को इलाज का सहारा मिल रहा है।

मोदी ने कहा बीजेपी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने गांव-गांव तक प्राइमरी हेल्थ केयर सुविधाओं को बेहतर बनाने का बीड़ा उठाया है। उन्होंने कहा पहले गरीब अपना इलाज नहीं करवाते थे। गरीब परिवार के लोग पीड़ा सहते थे, पर उपचार नहीं करवाते थे, क्योंकि यह संभव नहीं था। आज उन्हें आयुष्मान भारत का सहारा मिला है। सरकार का प्रयास है कि देश के गरीबों को कम से कम कीमत में उत्तम मेडिकल सुविधाएं मिले।

सुवर्ण आरक्षण पर बोलते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि, हमारी सरकार ने सामान्य श्रेणी के गरीब बच्चों को सरकारी सेवाओं के साथ-साथ सरकारी और निजी शिक्षण संस्थानों में 10% आरक्षण का प्रावधान किया है। मैं गुजरात सरकार को इसके लिए बधाई देता हूँ। जाति, वर्ग और संप्रदाय से ऊपर उठते हुए, सामान्य वर्ग के गरीबों की ये मांग दशकों से चल रही थी लेकिन राजनीतिक इच्छा शक्ति की कमी थी। चुनाव के समय राजनीतिक दल घोषणा तो करते थे लेकिन इसे पूरा नहीं किया गया। हमारी सरकार ने इसे पूरा करके दिखाया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि, आरक्षण की दूसरी केटेगरी को नुकसान पहुंचाये बिना 10 % आरक्षण देकर सरकार ने सामाजिक समरसता के नये द्वार खोले हैं। जिसके बाद प्रधानमंत्री ने कहा वाइब्रेंट गुजरात के साथ ही अहमदाबाद शॉपिंग फेस्टिवल की शुरुआत, एक सराहनीय पहल है। पीएम मोदी ने जेनेरिक दवाओं पर चर्चा करते हुए कहा कि अभी तक देश भर में करीब 5 हजार से ज्यादा जेनेरिक दवाओं के केंद्र खोले जा चुके हैं। इन केंद्रों पर सस्ती दवाएं मिलती हैं, जिनसे हजारों परिवारों को लाभ मिल रहा है। इसके अलावा सर्जरी के सामानों और उसकी दवाइयों की कीमतें भी फिक्स की गई है, ताकी कोई लूट न हो।