महोबा में चोरी गयी प्राचीन मूर्तियों को पुलिस ने किया बरामद, सात आरोपी धरे गए

महोबा पुलिस ने चोरी की गयी प्राचीन मूर्तियां बरामद की, सभी चोर पकड़े गए
महोबा में चोरी गयी प्राचीन मूर्तियों को पुलिस ने किया बरामद, सात आरोपी धरे गए
महोबा पुलिस ने चोरी की गयी प्राचीन मूर्तियां बरामद कीUday Bulletin

अपने माथे पर कबरई के इन्द्रकांत त्रिपाठी हत्याकांड को ढोती हुई महोबा पुलिस ने 15 दिसंबर को दी गयी तहरीर में बेहद तेज कार्य करके दिखाया है। इस मामले पर जिला पुलिस ने सरगर्मी दिखाते हुए साल के आखिरी दिन में इस मामले का खुलासा कर के चोरी गयी बेशकीमती मूर्तियों को बरामद कर दिखाया है। मामले को लेकर जिले में पुलिस की वाहवाही हो रही है।

चोरी हुई थी मंदिर से बेशकीमती मूर्तिया:

बुंदेलखंड मंदिरों और मूर्तियों के लिए देशभर में जाना जाता है, यहां के चंदेलकाल के दौरान ही बेशकीमती मूर्तियों को मंदिरों में स्थापित करने का प्रचलन रहा है। कालांतर में लोगों की भक्ति इन प्रतिमाओं पर बढ़ती गयी और लोगों मे इनकी आस्था बढ़ती गयी। महोबा जिले के थाना खरेला अन्तर्गत ग्राम ऐचाना में उस वक्त कोहराम मच गया जब मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम, अनुज लक्ष्मण, माता सीता समेत देवी उर्मिला की बेशकीमती पुरातन मूर्तियां मंदिर से अनायास ही गायब हो गयी, इस मामले पर मंदिर के देखरेख करने वाले विशंभर प्रसाद तिवारी ने इस मामले पर पड़ताल की इसपर न तो किसी ग्रामीण ने इस बारे में कोई जानकारी मुहैया कराई न ही कोई सहयोग दिया, इस पर देखरेख करने वाले विशंभर प्रसाद ने खरेला थाने में मु आ स 152/20 धारा 457/380 के तहत अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कराया। चूंकि मामला लोगों की आस्था से जुड़ा हुआ था इसलिए इस मामले पर जिला पुलिस अधीक्षक के साथ साथ आईजी परिक्षेत्र बाँदा द्वारा भी विशेष नजर रखी गयी और दोनो के द्वारा इस मामले में खुलासा करने पर इनाम भी घोषित किया गया।

पुलिस ने 15 दिन के अंदर किया खुलासा:

मामले में एसपी महोबा द्वारा खरेला थाने की पुलिस टीम के साथ-साथ क्राइम ब्रांच टीम, सर्विलांस और स्वात टीम को लगाया गया। बड़ी मशक्कत के बाद पुलिस टीम ने 31 दिसंबर की शाम तक इस मामले मे सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया और चोरी की गई सभी मूर्तियों को बरामद कर लिया। एसपी महोबा ने इस मामले पर मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि इस घटना में सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

अवधेश कुमार मौदहा हमीरपुर

सुरेंद्र यादव मौदहा हमीरपुर

जगदीश यादव मौदहा हमीरपुर

बड़कन यादव बिवार हमीरपुर

धर्मपाल उर्फ डाक्टर बिवार हमीरपुर

छिद्दू मियां मौदहा हमीरपुर

रविन्द्र सेन बिवार हमीरपुर

नवरात्रि में हुई थी रेकी:

एसपी महोबा ने जानकारी देते हुए बताया कि उक्त आरोपियों में से एक व्यक्ति की रिश्तेदारी ग्राम ऐचाना में थी जिससे वह विगत नवरात्रि में घूमने आया हुआ था। इन सभी आरोपियों के द्वारा कथित तौर पर अवैध तरीके से जमीन से धन खोदने का प्रयास कई बार किया जा चुका है, नवरात्रि में आरोपित व्यक्ति द्वारा मंदिर में स्थापित मूर्तियां देखी गयी और अंतरराष्ट्रीय बाजार में इनकी कीमत करोड़ों में होने की वजह से इन्हें वहां से चोरी करने का प्लान बनाया गया था, वहां से लौटकर मुख्य आरोपी के द्वारा पूरी टीम को सुनियोजित तरीके से तैयार किया गया और घटना को अंजाम दिया गया पुलिस ने सरगर्मी से इन सभी आरोपियों को खोजा गया और खरेला के बसौठ तिगैला नामक स्थान से चारों मूर्तियों और दो अवैध असलहे (एक अवैध 315 बोर तमंचा, 112 बोर जिंदा कारतूस, एक अवैध 315 बोर तमंचा 1 जिंदा कारतूस ) के साथ पकड़ा गया।

मामले पर पुलिस टीम को पुरस्कार स्वरूप 10,000 रुपये पुलिस अधीक्षक महोबा और 15,000 रुपये आईजी रेंज बाँदा द्वारा प्रदान किये गए है

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com