पुलिसकर्मी के द्वारा रोके जाने पर बिहार के स्वास्थ्य मंत्री का चढ़ा पारा, बोले इसे सस्पेंड कराइये। 

मानवीय भूल, भूल ही होती है। अगर किसी से हो भी जाती है तो बड़े ओहदेदार लोगों को इसका ख्याल रखना चाहिए।
पुलिसकर्मी के द्वारा रोके जाने पर बिहार के स्वास्थ्य मंत्री का चढ़ा पारा, बोले इसे सस्पेंड कराइये। 
Bihar Health Minister Mangal PandeyANI
Summary

बिहार में सूबे के स्वास्थ मंत्री मंगल पांडेय को पुलिस कर्मी द्वारा न पहचाने जाने पर सस्पेंड कराने की बात कह डाली। हालाँकि वीडियो मीडिया में आने के बाद मंत्री जी को जवाब नहीं सूझ रहा।

क्या है मामला :

मामला बेहद सीधा-साधा है, सूबे के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय बिहार के सिवान जिले में एक अस्पताल का शिलान्यास करने पहुंचे, तो जाहिर सी बात है कि पुलिस बंदोबस्त जरूर होगा, और सुरक्षा के सभी मापदंड तैयार किये गए थे। इसी लिए मंत्री जी की सुरक्षा के मद्देनजर अस्पताल परिसर में सभी व्यक्तियों को जाने की मनाही की गई थी। इसी चक्कर मे पुलिसकर्मी ने मंत्री जी को छुटभैया नेता समझ कर काफिले में आगे जाने से रोका। इस पर नेता जी भड़क गए और पुलिस के उच्चाधिकारियों से जोर देकर कहा..

” पागल हो क्या जी! ऐसे लोगों को क्यों खड़ा करते हो आप लोग, जो अपने मंत्री को अंदर जाने से रोक रहा है, ये अपने प्रभारी मंत्री को भी नहीं पहचानता, सस्पेंड कराइये इन्हें.” 

विभाग क्या कह रहा है ?

हालाँकि इस पर विभाग के द्वारा अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। जाहिर सी बात है सत्ता के मंत्री साहब से उलझने की जुर्रत कौन करेगा, हालांकि पुलिसकर्मी द्वारा अपने सूबे के मंत्री को न पहचान पाना एक भूल है लेकिन इसका आशय काफिले में शामिल मंत्री जी की सुरक्षा का ही था। इसलिए इसे कोई बहुत बड़ा अपराध नहीं माना जाना चाहिए। साहब को अपनी सत्ता की हनक छोटे तबके के अधिकारियों पर नही निकालनी चाहिए। हालाँकि इस मामले पर न तो मंत्री जी और न ही सरकार की तरफ से अभी तक कोई बयान आया है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com