उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
PNB Scam: मेहुल चोकसी ने छोड़ी भारत की नागरिकता
PNB Scam: मेहुल चोकसी ने छोड़ी भारत की नागरिकता
देश

PNB घोटाला: मामा- भांजे की जोड़ी ने दिया मोदी सरकार को झटका, मेहुल चोकसी ने छोड़ी भारत की नागरिकता

पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के मुख्य आरोपी भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चौकसी (Mehul Choksi) ने भारत की नागरिकता छोड़ कर एंटीगुआ की नागरिकता ले ली है।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली: Punjab National Bank Scam : पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के मुख्य आरोपी भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चौकसी (Mehul Choksi) ने भारत की नागरिकता छोड़ कर एंटीगुआ की नागरिकता ले ली है। भगोड़े मेहुल चौकसी (Mehul Choksi) ने भारत में प्रत्यर्पण से बचने की कोशिश करते हुए यह कदम उठाया है। मेहुल चौकसी ने भारतीय नागरिकता और भारतीय पासपोर्ट एंटीगुआ सरकार को सौप दे है।

मेहुल चौकसी (Mehul Choksi) का यह कदम भारत में प्रत्यर्पण से बचने की एक कोशिश के रूप में देखा जा रहा है। आपको बता दें कि, मेहुल चौकसी (Mehul Choksi) पीएनबी घोटाले ( Punjab National Bank Scam) का मुख्य आरोपी है। चौकसी ने एंटीगुआ (Antigua) में भारतीय उच्चायोग को अपने पासपोर्ट के साथ ही 177 डॉलर का ड्राफ्ट भी सौंपा है। अधिकारियों के मुताबिक उसने अपना नया पता 'जॉली हार्बर मार्क्स एंटीगुआ' बताया है।

दरअसल कल भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा था कि मेहुल चोकसी दो देशों की नागरिकता नहीं रख सकता है। इसलिए आज प्रत्यर्पण मामले को लेकर सुनवाई होनी थी, लेकिन उससे पहले ही मेहुल चोकसी ने खुद को आधिकारिक तौर पर एंटीगुआ का नागरिक घोषित कर दिया है। ऐसे में उसे भारत प्रत्यर्पित करना और भी मुश्किल हो सकता है। मेहुल चोकसी साल 2018 से एंटीगुआ के बारबूडा का नागरिक है। उसने 15 जनवरी 2018 में उस देश की नागरिकता ली थी।

क्या है मामला

मेहुल चोकसी ने पिछले साल मुंबई की एक कोर्ट से कहा था कि वह बीमार है और 41 घंटे की यात्रा नहीं कर भारत नहीं आ सकता। पंजाब नेशनल बैंक से लोन धोखाखड़ी मामले में आरोपी चोकसी ने बताया कि उसकी खराब सेहत की वजह से वह एंटीगुआ से भारत नहीं आ सकता। कोर्ट में लिखित में दिए गए जवाब में मेहुल चोकसी ने प्रवर्तन निदेशालय पर आरोप लगाया था कि उसकी स्वास्थ्य की जानकारी न देकर कोर्ट को गुमराह किया गया है। उसने साथ ही कहा कि वह बैंकों से संपर्क कर रहा है। वह जल्दी ही पैसे चुकता करेगा। वहीं प्रवर्तन निदेशालय ने कोर्ट से कहा था कि मेहुल चोकसी को भगोड़ आर्थिक अपरोधी घोषित किया जाए और उसकी संपत्ति जब्त करने के आदेश दिए जाएं।

मेहुल चोकसी 13,500 करोड़ रुपये के पंजाब नेशनल बैंक (PNB) धोखाधड़ी मामले के मुख्य आरोपियों में एक है। इस धोखाधड़ी मामले में चोकसी का रिश्तेदार नीरव मोदी मुख्य आरोपी है।

क्या होगा असर?

मेहुल चोकसी द्वारा भारतीय का पासपोर्ट सरेंडर करना उसके लिए किसी भी हद तक कारगर साबित नहीं होने वाला है। सुरक्षा एजेंसियों की मानें तो मेहुल चोकसी ने भारत में रह कर जो गुनाह किया है भारत सरकार उसपर कार्रवाई कर सकती है। किसी भी देश के नागरिक को प्रत्यर्पित किया जा सकता है, इसका ताजा उदाहरण अगस्ता वेस्टलैंड मामले में बिचौलिया क्रिश्चियन मिशेल है।