पीएम मोदी के सबसे बड़े समर्थक गौरव प्रधान ने खोल दी योगी सरकार की पोल, यूपी के अस्पतालों का हाल देखकर आप अच्छे भले बीमार हो जाएंगे

अगर आप गौरव प्रधान नाम को लेकर शंका में है तो शायद आप सोशल मीडिया की दुनिया से अनजान हैं, ये व्यक्ति सोशल मीडिया पर हर वक्त छाया रहता है, ताज़ा मामला एक कोविड केयर अस्पताल से जुड़ा हुआ है
पीएम मोदी के सबसे बड़े समर्थक गौरव प्रधान ने खोल दी योगी सरकार की पोल, यूपी के अस्पतालों का हाल देखकर आप अच्छे भले बीमार हो जाएंगे
Dr. gaurav pradhan exposed up government hospitals conditionफोटो: गौरव प्रधान ट्वीटर

गौरव प्रधान (Gaurav Pradhan) देश-विदेश से लेकर सामाजिक मुद्दे पर सोशल मीडिया मीडिया के माध्यम से अपनी बात रखते रहते हैं, ये व्यक्ति भविष्यवाणी करने में माहिर है और ज्यादातर मामलों में इनकी भविष्यवाणी सही भी साबित होती है।

गौरव प्रधान डाटा साइंस के क्षेत्र से जुड़े हैं, 2014 में हुए आम चुनावों में प्रधानमंत्री मोदी के लिए प्रचार प्रसार में गौरव प्रधान ने अहम् भूमिका निभाई थी और चुनाव में "चाय पर चर्चा " कार्यक्रमों का आगाज किया था, लेकिन अब उन्हीं गौरव प्रधान ने स्वास्थ्य मंत्री डाक्टर हर्षवर्धन समेत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से करारे सवाल किए हैं।

क्या हैं मामला?

मामला कोरोना संक्रमितों के लिए निर्धारित कोविड अस्पताल से जुड़ा हुआ है जहां पर गौरव प्रधान ने उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में चिकित्सा के लिए निर्धारित किये एक अस्पताल की फोटो ट्वीट करके सरकार, मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री से चुभते सवाल किए है।

गौरव प्रधान ने अपने एक ट्वीट में देश के स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को टैग करते हुए कहा कि "एक मजबूत राष्ट्र 2 मजबूत घटक की नींव पर खड़ा होता हैं...

  • पहला: सभी लोगों के लिए स्वास्थ्यप्रद हितकारी और बुनियादी भोजन की सुदृढ़ व्यवस्था

  • दूसरा: सभी नागरिकों के लिए साफ सुथरी, सस्ती और बुनियादी स्वास्थ्य व्यवस्था

बाकी जीडीपी, अर्थव्यवस्था, डिजिटल तकनीकी और सुरक्षा के लिए प्रयुक्त होने वाले हथिया सेकेंडरी जरूरत है।

ट्वीट में गौरव प्रधान (Gaurav Pradhan) ने देश के स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को बताया कि मंत्री जी हम दयनीय स्थिति में हैं।

अपने दूसरे ट्वीट में प्रधान ने प्रदेश के मुख्य सचिव के साथ योगी आदित्यनाथ और गाजियाबाद के जिलाधिकारी को टैग करके हुए पूंछा कि क्या गाजियाबाद के जिलाधिकारी/सीएमओ अपनी बेटी/ पत्नी को इस तरह के सरकारी कोविड अस्पताल में रखकर इलाज करा सकते है जहां पर पुरुषों की भरमार हो और इलाज के लिए कोई डाक्टर, नर्स, अटेंडेंट उपलब्ध न हो, जहां पर कॉमन बाथरूम टूटे नजर आते हो और दरवाजों पर ताले लटके नजर आते हो।

ज्ञात हो कि गौरव प्रधान का कोई परिवारीजन बीते दिनों कोविड-19 पॉजिटिव पाया गया था जिसकी वजह से उनको अस्पताल में एडमिट कराया गया था उसके बाद अस्पताल की इस हालत को देखकर गौरव प्रधान ने सरकार को आईना दिखाया है। देखने वाली बात ये होगी कि क्या योगी सरकार या देश के स्वास्थ्य मंत्री इस मामले पर कोई संज्ञान लेते है या नहीं।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com