देश

कांग्रेस नेता का काल बनी ये महिला अधिकारी, अश्लील वीडियो शेयर करने वाले पवन दुबे सलाखों के पीछे

सोशल मीडिया में अश्लील वीडियो शेयर करते थे नेता जी !

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

कांग्रेस पार्टी इन दिनों अपनी वास्तविकता खोती जा रही है। एक तरफ पार्टी शीर्ष नेतृत्व को लेकर संघर्ष कर रही हैं वहीं दूसरी तरफ पार्टी के नेताओं पर अनुशासनहीनता से लेकर कुचरित्र के आरोप लगाए जा रहे हैं। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में सोशल मीडिया पर अश्लील वीडियो शेयर करने के आरोप में अब कांग्रेस नेता पवन दुबे को गिरफ्तार कर लिया गया है।

दरअसल पवन दुबे बिलासपुर जिले में कांग्रेस का जाने पहचाने नाम है। प्रदेश में उनकी धाक ऐसी है कि कोई भी उनके खिलाफ शिकायत करने से पहले 100 बार सोच ले। बिलासपुर जिले के पेन्ड्रा और गौरेला क्षेत्र में कांग्रेस के संयुक्त जिला सचिव पवन दुबे ने एक व्हाट्सअप ग्रुप बनाया था ,जिसमें कांग्रेस पार्टी से जुड़े सभी नेता और नेत्री शामिल थे। लेकिन पवन दुबे ने इस ग्रुप में पार्टी से जुड़ी जरुरी जानकारी देने के बजाए अनुच्छेद 370 के खिलाफ के पोर्न वीडियो शेयर किया। जिसमें एक महिला बुर्का पहने थी।

जिसपर पार्टी से जुड़ी महिलाओं ने आपत्तिजताई जताई और पवन दुबे से माफी मांगने को कहा। लेकिन नेता जी झुकने वाले नहीं थे उन्होंने माफ़ी मांगने से साफ़ इंकार कर दिया।

जिसके बाद कांग्रेस पार्टी की महिला नेताओं और कार्यकर्ताओं ने पार्टी के बड़े पदाधिकारियों के समक्ष आपत्ति जताई और इस वीडियो को हटाने और पवन दुबे से माफ़ी मांगने की बात कही। लेकिन पवन दुबे ने वीडियो को हटाने से साफ़ इंकार कर दिया। जिसके बाद ब्लॉक कांग्रेस की महिला अध्यक्ष सहित पार्टी की अन्य महिला कार्यकर्ताओं ने बुधवार को पुलिस के पास जाकर इस मामले की शिकायत गौरेला थाने में दर्ज करा दी। महिलाओं की शिकायत के बाद आज पुलिस ने पवन दुबे को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

इस मामले की जानकारी देते असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर डीआर ठाकुर ने बताया कि, "पवन दुबे ने एक व्हाट्सएप ग्रुप में अश्लील वीडियो साझा किया था और सबूतों के आधार पर उनके खिलाफ आईपीसी और आईटी अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। वीडियो धारा 370 से संबंधित था और इसमें बुर्का पहने महिला थी। महिलाओं की शिकायत के बाद हमने पवन दुबे को गिरफ्तार कर लिया है।”

पुलिस ने ये भी बताया कि पवन को बहुत जल्द कोर्ट में पेश किया जायेगा, फ़िलहाल उन्हें न्यायिक रिमांड पर जेल भेजा गया है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com