कोरोना को लेकर दहशत में जी रहे है जेल के कैदी, सरकार के पैसे का हुआ दुरुपयोग

बाँदा मंडल कारागार में फ़ैल सकता है कोरोना, जेल प्रसाशन कोरोना केयर के लिए दिए गए पैसे हड़प कर बैठा हैं। मास्क और सैनिटाइज़र खुद कैदियों को खरीदने पड़ रहे।
कोरोना को लेकर दहशत में जी रहे है जेल के कैदी, सरकार के पैसे का हुआ दुरुपयोग
banda mandal karagarGoogle Image

एक ओर जहां देश और प्रदेश सरकार कोरोना को लेकर हरसंभव कदम उठाती हुई नजर आ रही है वहीँ जिले स्तर के अधिकारी बंदरबांट के खेल में इस कदर व्यस्त है कि उन्हें किसी की जान जाने को लेकर कोई भय ही नही है। ठीक ऐसा ही मामला उत्तर प्रदेश के बाँदा जिले में स्थापित मंडल कारागार में सामने आया है जहां जेल में निरुद्ध कैदी इन दिनों सहम कर जी रहे है।

बंदियों को सता रहा कोरोना का ख़ौफ़:

बाँदा जिले के मुख्यालय में स्थापित मंडल कारागार इन दिनों कोरोना के चलते बड़ी मुश्किल में है यहां जेल में सभी कैदी कोरोना को लेकर बेहद ख़ौफ़ के माहौल में जी रहे हैं। दरअसल पिछले हफ्ते जिले की मंडल जेल (मंडल कारागार बाँदा) में करीब 56 से ज्यादा कैदी और कैदी रक्षक कोविड पाजिटिव पाये गए थे जिसके बाद से जेल में निरुद्ध अन्य कैदियों के मन मे कोरोना के प्रसार को लेकर भयानक ख़ौफ़ घर कर गया है। चूंकि बैरकों में कैदियों की संख्या क्षमता से ज्यादा है और सोशल डिस्टेंस जैसी किसी स्थिति का आभाव है। इस भयावह बीमारी को लेकर कैदियों में यह आशंका है कि अगर जेल प्रशासन द्वारा समुचित उपाय जल्द ही नही किये गए तो जेल में कोरोना संक्रमितों की संख्या में इजाफा होता नजर आयेगा।

मास्क और सेनेटाइजर का नामो निशान नहीं:

कहने को तो शासन के द्वारा मंडल जेल में भारी भरकम फंड का आवंटन किया गया है ताकि जेल में निरुद्ध कैदियों और बंदी रक्षकों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए हैंड सेनेटाइजर, हैंड वाश, मास्क इत्यादि की खरीद हो सके और उन्हें उपयोग में लाया जाए लेकिन यह सब खरीद फरोख्त केवल कागजों तक ही सीमित रही। कैदियों द्वारा खुद अपने पैसो के द्वारा बंदी रक्षकों द्वारा मास्क इत्यादि की व्यवस्था कराई जा रही है। लेकिन इसके लिए भी कैदियों को 10 रुपये की चीज के लिए 100 रुपये खर्चने पड़ रहे है।

बढ़ रहा है संक्रमण का खतरा:

अगर मंडल जेल के ताजा हालातों का जायजा लिया जाए तो इन दिनों बाँदा जेल में संक्रमण का खतरा लगातार बढ़ रहा है। चूंकि जेल में तैनात बंदी रक्षक बाजार में लगातार कैदियों के लिए निजी खरीददारी करते हुए नजर आ रहे है और वही बंदी रक्षक जेल में कैदियों के सम्पर्क में आ रहे है। इसलिए संभावना जताई जा रही है कि बाँदा जेल में हालात भयावह हो सकते है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com