उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का पुलवामा हमले के बाद बयान
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का पुलवामा हमले के बाद बयान|Google
देश

इमरान खान का भारत सरकार को जवाब- अगर आपके पास हमले का सबूत है तो हमें दें हम करवाई करेगें 

Imran Khan Press Conference: पाकिस्तान में बैठे जैश के आतंकियों ने पुलवामा हमले की जिम्मेवारी ली है, बावजूद पाकिस्तान के PM यह मानने को तैयार नहीं कि इस हमले में पाकिस्तान जिम्मेदार है

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

14 फ़रवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद आज पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत को गीदड़ भवकी देते हुए प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया है। जिसमें उन्होंने भारत सरकार को ढेर सारी नसीहत दी है। इमरान खान ने कहा कि मैं यह बयान भारत सरकार के लिए दे रहा हूं । आप (भारतीय सरकार) ने बिना किसी सबूत के पाकिस्तान सरकार को दोषी ठहराया है। मैं भारतीय सरकार से कहना चाहता हूं कि पाकिस्तान से किसी के खिलाफ अगर आपके पास कोई भी सबूत हो हमें दें, हम कार्रवाई करेंगे।

नए पाकिस्तान में नहीं हैं दशहतगर्दी

इमरान खान ने कहा कि भारत में आतंकवाद फैलाकर पाकिस्तान को क्या फाएदा होगा ? ये नया पाकिस्तान है यहा दशहतगर्दी की कोई गुंजाइश नहीं है। उन्होंने कहा दुनिया जानती है कि आतंकवाद से सबसे ज्यादा नुकशान पाकिस्तान को ही हुआ है। हमारे 70 हज़ार लोग मरे गए हैं। हमें 1 अरब डॉलर का नुकशान हुआ है।

पाकिस्तान को सबक सीखने की भूल न करे भारत

इमरान ने कहा कि हिंदुस्तान में लोग कह रहे हैं कि पाकिस्तान को सबक सिखाना चाहिए। कोई भी कानून किसी को जज बनने की इजाजत नहीं देता है, चुनाव का साल है इसलिए आप इस तरह की बातें कर रहे हैं। अगर आप सोचते हैं कि पाकिस्तान पर हमला करना चाहिए तो हम जवाब देने के लिए बिल्कुल तैयार हैं. उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि जंग शुरू करना आसान है, लेकिन इसे खत्म करना काफी मुश्किल है। इमरान ने कहा कि दोनों देशों के बीच जो मसला है वो सिर्फ बातचीत से ही हल होगा।

भारत को दी नसीहत

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत को नसीहत देते हुए कहा कि भारत में नई सोच आनी चाहिए। यह सोचना चाहिए कि आखिर क्या कारण है की कश्मीर के लोगों को अपनी जान कि परवाह नहीं है। वो बंदूक उठाने के लिए तैयार हैं। कश्मीर के नौजवानों से आज मौत का डर हट चूका है। यहां तक कि अफगानिस्तान के अंदर ये तय हो चुका है कि सेना ही हल नहीं है, तो हिंदुस्तान में भी कश्मीर को लेकर बात होनी चाहिए और हम हिंदुस्तान से बात करने के लिए तैयार हैं।

आपको बात दें कि, इससे पहले पाकिस्तान सयुंक्त राष्ट्र (UN) में भारत के साथ तनाव काम करनी की गुहार लगा चूका है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने सयुंक्त राष्ट्र (UN) के महासचिव को पत्र लिख कर पुलवामा हमले मामले में हस्तक्षेप करने को कहा है। दरअसल 14 फ़रवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा आतंकी हमले में जैश के आतंकियों ने CRPF के काफिले पर हमला कर दिया था। जिसमें CRPF के 49 जवान शहीद हो गए थे।