यूपी में बलात्कारियों की खैर नहीं, ऑपरेशन दुराचारी के तहत चौराहों पर लगेंगे पोस्टर

योगी सरकार उत्तर प्रदेश में रामराज्य लाने का भरसक प्रयास कर रही है इसी क्रम में महिला सुरक्षा के लिए योगी सरकार ने ऑपरेशन दुराचारी (Operation Durachari) लाने वाली है
यूपी में बलात्कारियों की खैर नहीं, ऑपरेशन दुराचारी के तहत चौराहों पर लगेंगे पोस्टर
Operation DurachariUday Bulletin

उप्र सरकार अब प्रदेश में होने वाले बलात्कार जैसे अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए बलात्कारियों के पोस्टर सड़कों और चौराहों पर लगाने जा रही है, अगर यह प्रयास सफल रहा तो प्रदेश में जल्द ही बलात्कारियों के पोस्टर लगे हुए मिलेंगे।

बलात्कारियों पर योगी का करारा प्रहार:

उत्तर प्रदेश सरकार अब प्रदेश में महिलाओ पर बुरी नजर रखने वालों के खिलाफ बेहद कड़ा कदम उठाने जा रही है। सरकार का अनुमान है कि ऐसे प्रयास से सामाजिक आलोचना के भय से बालात्कार जैसे जघन्य अपराध में भारी कमी आएगी। सरकार ने इस बाबत विभागिय मंत्रणा की है कि उत्तर प्रदेश भर में जिले वार बलात्कार में दोषयुक्त पाए गए बलात्कारियों के पोस्टर टंगवाये जाएंगे जिससे लोग इन्हें पहचान सकें। हालांकि इस बारे में यह तथ्य ज्ञात नहीं है कि यह प्रयास नाबालिग अपराधियों पर भी जारी होगा या नहीं?

बनेगा सामाजिक भय का कारण:

कोई भी व्यक्ति मुख्यतः कुछ अपराध इसीलिए करता है जिससे उसका सच दुनिया के सामने न आ सके लेकिन जब अपराध करने के बाद उसकी पहचान सबके सामने जाहिर हो सकती है यह भय अपराध में कमी लाने का प्रयास करेगा। उदाहरण के तौर पर अगर किसी जिले में किसी बालात्कार के आरोपी को दोषी पाया जाता है और तो सरकार उसके अपराध के बारे में सभी जानकारी सहित उसका चित्र भीड़भाड़ वाले चौराहे पर टांग देगी ताकि लोग अपराधी को पहचान सके और ऐसे लोगों से दूरी बना सके।

महिला अपराध पर महिलाएं ही करेंगी दंडित:

योगी सरकार ने महिलाओं के साथ यौन दुर्व्यवहार और बलात्कार जैसे शर्मसार करने वाले अपराध करने वाले अपराधियों को महिला पुलिसकर्मियों द्वारा दंडित कराए जाने का प्रावधान रखा रखा है ताकि महिलाओं पर ऐसे कृत्य करने वाले अपराधी इस तरह के अपराध करने से पहले हजार बार सोचने पर मजबूर हो जाये।

जल्द ही शुरू होगा ऑपरेशन दुराचारी:

मामले (Operation durachari) को लेकर सरकार अपना पूरा मन बना चुकी है और कानूनी औपचारिकताएं पूरी होने के बाद सरकार जल्द ही इस मुहिम को धरातल पर उतार सकती है। देखना यह है कि इस मुहिम के बाद समाज मे इस अपराध के लिए कितना भय पैदा होगा। हालांकि इससे पहले भी उत्तर प्रदेश सरकार इसी तर्ज पर कार्य कर चुकी है, सरकार ने दंगाइयों को पहचान करके उनके पोस्टर लगवाए थे जिसको लेकर मीडिया में खासा हो हल्ला मचा था लेकिन इन दोनों मामलों में काफी समानताएं होने के बावजूद पेचीदगियां है जिनको दूर करके अमल में लाना होगा।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com