उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
अर्चना चिटनीस
अर्चना चिटनीस|google
देश

मध्य प्रदेश बीजेपी के बेलगाम नेता, हार के बाद जनता को कोसने पहुंचे, वीडियो 

विधानसभा चुनाव में हर के बाद बीजेपी नेता का जनता पर फूटा गुस्सा, कहा जिन्होंने मुझे वोट नहीं दिया अगर मैंने उन्हें रुलाया नहीं तो मेरा नाम अर्चना चिटनीस नहीं। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

भोपाल: भारतीय जनता पार्टी मध्य प्रदेश में 15 सालों तक सत्ता में काबिज होने के बाद 2018 का विधानसभा चुनाव हार चुकी है। 15 साल बाद कांग्रेस के कमलनाथ मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री बनाने जा रहे हैं। बीजेपी पार्टी के कई दिग्गज नेता इस चुनावी मैदान में कांग्रेस प्रत्यासियों के सामने फिसड्डी साबित हुए है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बुधनी सीट से तो जीत गए लेकिन शिवराज सरकार में मंत्री रही अर्चना चिटनीस जो बीजेपी की टिकट से बुरहानपुर में चुनाव लड़ रही थी वो हार चुकी हैं और हार के बाद उन्होंने कुछ ऐसा कहा जिस सुनकर आप हैरान परेशान हो जायेगें। अर्चना चिटनीस लोगों को खुलेआम धमकी देती नज़र आ रही हैं।

दरअसल बीजेपी प्रत्याशी अर्चना चिटनीस बुरहानपुर विधानसभा क्षेत्र में निर्दलीय प्रत्याशी ठाकुर सुरेंद्र सिंह से 5120 मतों से हारी हैं। जिसके कारण वो गुस्से में हैं और लोगों को धमकी दे रही है कि 'जो कमाल मैंने सत्ता में रहकर किया है, वैसा ही रोल मैं सत्ता से बाहर रहकर भी बहुत खूबसूरती से निभाऊंगी। जिन लोगों ने मुझे वोट दिया उनका सिर झुकने नही दूंगी और जिन लोगों ने भूल-चूक में या किसी के बरगलाने से या भय से या मन से मुझे वोट नहीं दिया तो उनको अगर मैंने रुला न दिया तो मेरा नाम अर्चना चिटनीस नहीं और वह पछताएंगे।' अर्चना चिटनीस का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है।

ये है भाजपा के नेताओ का असली चेहरा जनता ने नकारा तो जनता को धमकाना शुरू कर दिया अच्छा है जो जनता ने इनको तीन राज्यों से...

Posted by अभिनव चतुर्वेदी on Thursday, December 13, 2018

आपको बता दें कि, मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी हर गई है। राज्य में बीजेपी ने 109 सीटें हासिल की है, कांग्रेस ने 114 सीटें, सपा को 1 सीट मिली है, बसपा ने दो सीटें पर कब्ज़ा जमाया है तो निर्दलीयों के खाते में छह सीटें गई है। मध्यप्रदेश में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी है।कांग्रेस ने मुख्यमंत्री पद के लिए कमलनाथ का चुनाव किया है। मुख्यमंत्री चुने जाने के बाद कमलनाथ ने पार्टी हाईकमान और मध्यप्रदेश की जनता का धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि वह मध्य प्रदेश के मतदाताओं के आभारी हैं जिन्होंने मध्य प्रदेश में कांग्रेस (Congress) पार्टी की सरकार बनाने के लिए अपना समर्थन दिया। आपको बता दें की कमलनाथ 17 दिसंबर को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।