moradabad stone pelting
moradabad stone pelting|Social Media
देश

इंदौरी कांड का पार्ट 2 था यूपी के मुरादाबाद में स्वास्थकर्मियों के ऊपर भीषण पथराव।

इंदौर में स्वास्थकर्मियों पर हुए हमले के बाद देश के अलग-अलग स्थानों पर इस तरह की घटनाओं की बाढ़ सी आ गयी है। इंदौर हो या मुरादाबाद ये सभी हमले मानवता पर ही किये जा रहे हैं।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

इसे तो जाहिलपन की अंतिम सीमा ही कहा जायेगा, हर वक्त विक्टिम कार्ड खेल कर खुद को दबे कुचले होने की बात कहने वाले वक्त बेवक्त पुलिस और स्वास्थकर्मियों के लिए काल बनते जा रहे है आखिर स्वास्थ्यकर्मी गलत क्या कर रहे है, आपकी जान की हिफाजत ?

बचाने गए जान, खुद की जान पर बन आयी :

दरअसल मामला उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले के अंतर्गत आने वाले थाना नागफनी के नवाबपुरा हाजी बेग की मस्जिद में संदिग्ध कोरोना मरीजों की सूचना पर गए थे, जहाँ पर अचानक हुए बलवे ने स्वास्थकर्मियों की जान को खतरे में डाल दिया गया। लोगों की मतान्ध भीड़ ने स्वास्थकर्मियों पर जानलेवा हमला कर दिया इस दौरान स्वास्थ्य विभाग की गाड़ियों को पत्थरों के जरिये छतिग्रस्त कर दिया गया।

संदिग्ध के घर वाले नहीं, बल्कि और लोग शामिल :

दरअसल सरताज नाम का कोरोना संक्रमित व्यक्ति जो कि दिल्ली के जमातियों के सम्पर्क में आया था। जांच में पॉजिटिव आने पर प्रशासन ने जांच पड़ताल शुरू कर दी, खोजबीन करने पर पता चला कि सरताज की मौत के लगभग पांच दिन पहले ही सरताज की मौत संदिग्ध परिस्थितियों में हुई थी। जिसकी वजह से प्रशासन ने पूरे परिवार को क्वारण्टाइन करने और सैम्पल लेने की कोशिश की जिसमें उन्हें सरताज के परिवार का पूरा सहयोग मिला।लेकिन जैसे ही परिवार एम्बूलेंस में बैठने को हुआ मुहल्ले की भीड़ जो मस्जिद के रास्ते से आई, उन्होंने पत्थर और लाठी डंडे बरसाने शुरू कर दिए। इस हमले में दो चिकित्सक बुरी तरह घायल हुए।

यूपी पुलिस हुई बेहद सख्त, महिलाओं पर भी लगाई रासुका :

मामले की संजीदगी को देखते हुए प्रशासन ने लगभग सभी उपद्रवियों की पहचान करके उन पर कड़ी कार्यवाही की है। यहाँ तक कि मकानों की छतों से डॉक्टरों और पुलिसकर्मियों के ऊपर पत्थर बरसाने वाली महिलाओं पर भी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून की धारा लगाई गई है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com