उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Mandakini river bachao andolan in chitrakoot
Mandakini river bachao andolan in chitrakoot|Social Media
देश

चित्रकूट में मंदाकिनी बचाओ अभियान की मुहिम छिड़ी

संतो की मंडली के साथ युवा जोश हुआ शामिल, लक्ष्य तक पहुंचने का भरा दम। 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

चित्रकूट, राम की तपोस्थली जहाँ मर्यादा पर मर्यादापुरुषोत्तम श्री राम ने अपने वनवास का एक लंबा समय व्यतीत किया और समाज में एक आदर्श स्थापित किया। उसी चित्रकूट में आज पवित्र नदी एक बहुत बड़ी समस्या से जूझ रही है जिसके उत्थान के लिए आज संतो के साथ-साथ युवा वर्ग भी उठ खड़ा हुआ है।

मंदाकिनी नदी प्रदूषण की भेंट चढ़ी :

गौरतलब है चित्रकूट की पवित्र नदी मंदाकिनी जिसे पयस्विनी और चित्रकूट गंगा इत्यादि नामों से जाना जाता है वह आजकल आस-पास के क्षेत्र की वजह से इस कदर प्रदूषण युक्त हो चुकी है कि अगर इस नदी का पानी पी लिया जाए तो बीमारी अवश्य होगी।

नालों का पानी सीधे गिरता मंदाकिनी में:

शहर के लगभग हर नाले और अपशिष्ट पानी का बहाव मंदाकिनी की ओर ही है। जबकि प्रशाशन ने अब तक नदी में गिरने वाले पानी को ट्रीट किये जाने के संबंध में कोई कदम नहीं उठाया है, नदी किनारे खुले हुए सैकड़ो आश्रम और होटलों के दूषित पानी ने मंदाकिनी के पवित्र जल को विष के समान अहितकर बना दिया है।

होगा बड़ा आंदोलन :

Mandakini river bachao andolan in chitrakoot
Mandakini river bachao andolan in chitrakoot

इस आंदोलन में मुंबई से आई हुई साध्वी कात्यायनी जी और अभिमन्यु जी के अलावा अन्य स्थानीय समाजसेवी और लेखक सौरभ द्विवेदी, अनूप त्रिपाठी , और युवा छात्र नेता और समाजसेवी विवेक तिवारी ने आंदोलन को आगे बढ़ाने का व्रत लिया है और मंदाकिनी के उज्जवल भविष्य के लिए आमजन मानस में चेतना जगाने के लिए हुंकार भरी।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।