indrakant tripathi murder case mahoba
indrakant tripathi murder case mahoba|Google Image
देश

इन्द्रकांत त्रिपाठी के सहयोगी के घर स्थानीय पुलिस ताला तोड़ घुसी, परिजनों ने बताया जान का खतरा

महोबा के तत्कालीन एसपी मणिलाल पाटीदार को बचाने के लिए महोबा पुलिस एड़ी-छोटी का जोर लगा रही है। मृतक व्यवसायी इन्द्रकात त्रिपाठी की हत्या के बाद उसके करीबियों को पुलिस से खतरा।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

योगी की पुलिस मुख्य आरोपियों को पकड़ने की बजाय पीड़ितों के सहयोगियों के घर मे चोरों की तरह घुसती नजर आ रही है। जनाब ये उत्तर प्रदेश है, जहां पुलिस के हत्यारे को गाड़ी पलटने से मारा जाता है और हत्यारे लोगों को बचाने के लिए चोरों की तरह सेंधमारी की जाती है।

लेकिन जैसे ही पुलिस ने यह देखा कि घर मे सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ है पुलिस वहाँ से रफूचक्कर हो गयी अब लोगों को चिंता यह है कि स्थानीय पुलिस करना क्या चाहती है ? कुछ लोगों के आरोप है कि पुलिस साक्ष्य मिटाने की जुगत में है साथ ही इन्द्रकांत के राजदारों का एनकाउंटर करने के मूड में है। ज्ञात हो कि इस मामले की एसआईटी जांच चल रही है।

हत्या का है मामला:

इन्द्रकांत त्रिपाठी हत्याकांड मामले में एक ओर जहां एसआईटी अपना काम कर रही है वहीँ स्थानीय पुलिस बेहद अलग तरीके से मामले को प्रभावित करने में जुटी है। दरअसल बीते दिनों मृतक इन्द्रकांत त्रिपाठी की हत्या एसपी महोबा मणिलाल पाटीदार के साथ हुए विवाद के बाद हो गयी थी जिसमे इन्द्रकांत त्रिपाठी के परिजनों ने देवेंद्र शुक्ला, अंकित सिंह राजावत, सुरेश सोनी , ब्रम्हदत्त और मणिलाल पाटीदार पर हत्या कराने के आरोप लगाए थे। वहीँ स्थानीय पुलिस एसआईटी के गठित होने के बाद भी अपनी कार्यवाही बंद नही कर रही है।

मध्य रात्रि ताला तोड़ घर मे घुसी पुलिस:

मृतक इन्द्रकांत के परिजनों ने स्थानीय पुलिस पर आरोप लगाए की पुलिस मुख्य आरोपियों की जांच और गिरफ्तारी की बजाय मृतक के सहयोगियों के ऊपर शिकंजा कसने में व्यस्त है। मृतक के सहयोगी पुरुषोत्तम सोनी ने अपने घर मे लगे सीसीटीवी के कुछ फुटेज सोशल मीडिया पर साझा किए है। वीडियो में साफ साफ नजर आता है कि स्थानीय पुलिस सोनी के घर मे लगे दरवाजे को कभी हिलाकर तो कभी तोड़ने की कोशिश कर रही है और इस काम मे पुलिस कामयाब भी हो जाती है। वीडियो में पुलिसकर्मियों को घर मे घुसते हुए साफ साफ देखा जा सकता है।

पुलिस घर मे ताला तोड़कर मकान के अंदर जाकर कमरों की तलासी लेती हुई नजर आती है लेकिन बाद में जब पुलिस अधिकारियों और पुलिस बल को यह पता चलता है कि मकान में सीसीटीवी लगा हुआ है इसपर पुलिस मौके से रफूचक्कर हो जाती है।

परिजनों ने पुलिस पर लगाये संगीन आरोप:

मामले में पुरुषोत्तम सोनी और इन्द्रकांत त्रिपाठी के परिजनों ने स्थानीय पुलिस पर आरोप लगाए कि पुलिस जांच गठित होने के बावजूद अपनी हरकतों से बाज नही आ रही है। परिजनों ने आरोप लगाए की पुरुषोत्तम को पुलिस उठवा कर या तो एनकाउंटर कर सकती है या गायब करा सकती है और या फिर टार्चर करके कुछ भी लिखवा सकती है। परिजनों ने पुलिस की इस हरकत से बचाव की मांग की है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com