Mahoba DM
Mahoba DM |Uday bulletin
देश

किसानों के हितों की रक्षा के लिए डीएम ने जारी किए निर्देश

कोरोना महामारी के बीच महोबा जिलाधिकारी ने जारी किए निर्देश, समर्थन मूल्य के बारे में दी जानकारी, कहा अगर किसान हुआ परेशान तो जिम्मेदारों की खैर नहीं।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

समर्थन मूल्य निर्धारित :

महोबा जिलाधिकारी अवधेश कुमार तिवारी (dm mahoba avdhesh kumar tiwari) ने जिले के जिम्मेदार अधिकारियों को इस बाबत जानकारी दी कि किसानों की फसल का उचित मूल्य समय से मिल जाये और जिलाधिकारी ने यह चेतावनी जारी कि अगर किसी किसान के साथ धोखाधडी हुई और लापरवाही बरती गई यो इसके परिणाम जिम्मेदार लोगों को भुगतने पड़ेंगे। जिलाधिकारी ने शासन द्वारा निर्धारित फसलों के समर्थन मूल्य के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इस वक्त सरकार किसानों के चने को 4875 रुपये प्रति क्विंटल, मटर 4800 रुपये प्रति क्विंटल और गेंहू 1925 रुपये में खरीदेगी। इस दौरान किसी भी किसान के द्वारा खरीद केंद्र अधिकारियों के खिलाफ की गई जायज शिकायत बिना एक्शन लिए नहीं छोड़ी जाएगी और जरूरत पड़ने पर जिम्मेदारों को जेल भेजा जाएगा।

चरखारी विधायक ने की थी शिकायत :

दरसअल किसान फसल खरीदी मामले को लेकर चरखारी विधायक (brij bhushan rajput mla charkhari) मुख्यमंत्री स्तर पर अपनी शिकायत दर्ज करा चुके हैं। विधायक के अनुसार किसानों को खरीद केंद्रों पर तीन-तीन दिन तक ठहराया जा रहा है और जो किसान खरीद केंद्र वालो को चढ़ावा दे रहे है सिर्फ उनकी फसल ही खरीदी जा रही है। शायद यही कारण है कि जिलाधिकारी को इस मामले में अपनी दखल देनी पड़ी।

किसानो ने लगाए सांठ गांठ के आरोप :

फसल खरीदी केंद्र पर आए हुए किसानों ने सरकारी अमले पर बहुत गंभीर आरोप लगाया है। किसानों के अनुसार खरीद केंद्र पर किसानों को लंबे वक्त तक रोककर सिर्फ इस लिए परेशान किया जा रहा है ताकि किसान खुद परेशान होकर अपनी फसल को बिचौलियों के हांथो औने पौने दामो में बेच दे ताकि बाद में उसी फसल को सरकार को बेचकर खासा मुनाफा कमाया जा सके। किसानों ने बताया कि इस मामले में एक बहुत बड़ा सिंडिकेट काम कर रहा है इसपर जांच की बेहद जरूरत है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com