JEE and NEET Exam
JEE and NEET Exam|Uday Bulletin
देश

जेईई और नीट की परीक्षाओं को लेकर अभी भी कायम है बवाल

कोरोना के बीच NEET और JEE की परीक्षाएं होने से देश में बवाल जारी है

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

एक ओर जहां छात्रों का समूह जेईई मेंस और नीट (यूजी) की परीक्षाओं को टालने की अपील कर रहे है वहीँ दूसरी ओर लोग एसएससी रेलवे के एग्जाम कराने की मांग उठा रहे हैं। मामला जो भी हो सरकार को कोविड महामारी के दौर में इस तरह के किसी भी बड़े आयोजन को होने से रोकना चाहिए ताकि इस बीमारी का प्रसार न हो सके।

सरकार अपने बयान पर कायम,परीक्षाओं की तैयारी पूरी:

कुछ समय पहले ही केंद्र सरकार ने देश मे जेईई और नीट (यूजी) की परीक्षाओं को कराने का नोटिफिकेशन जारी किया। दरअसल ऐसे वक्त में जब देशभर से कोरोना प्रसार की ख़बरें निकल कर आ रही है ऐसे वक्त में सरकार ने दो बड़ी परीक्षाओं को कराने का निर्णय सुनाया। परीक्षाओं की घोषणा के बाद भारत भर में इस परीक्षा के पक्ष और विपक्ष से बात उठनी शुरू हो गयी जिसकी वजह से छात्र असमंजस की स्थिति में आ चुके है।

सरकार ने कहा तैयारी पूरी:

विपक्षी दलों समेत छात्रों के द्वारा सुप्रीम कोर्ट समेत अन्य जगहों पर जिसमे पीएमओ तक शामिल है को पत्र लिखकर परीक्षाओं को स्थगित करने अथवा एकाध महीने आगे बढ़ाने का अनुरोध किया है गया है। लेकिन वहीँ परीक्षा कंट्रोलर ने इस बात का दावा किया है कि छात्र परीक्षा के लिए साइट पर डाले गए प्रवेश पत्रों को डाउनलोड कर चुके है इसका मतलब है कि छात्र इस परीक्षा के लिए इच्छुक है और साथ ही सरकार के बिहाफ पर कंट्रोलर ने इस बारे में यह जानकारी दी है कि हमने परीक्षा केंद्रों पर सोशल डिस्टेंस का बराबर खयाल रखा है ताकि किसी प्रकार के कोरोना संक्रमण का खतरा न रहे।

सुब्रमण्यम स्वामी ने भी परीक्षा आगे बढ़ाने की अपील:

भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने भी कोरोना के चलते छात्रों के भविष्य और स्वास्थ्य के चलते प्रधानमंत्री कार्यालय से सपंर्क साध कर परीक्षा को आगे बढ़ाने की मांग की है। हालांकि इस बारे में पीएमओ से कोई जवाब नहीं मिला है। स्वामी ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि जैसे ही इस मामले की जानकारी मिलती है तो छात्रों को अवगत कराया जाएगा।

भला ऐसी स्थिति में होंगे एग्जाम ?

छात्रों की क्या है राय?

देखिए अगर सही तरीके से देखा जाए तो छात्रों का पहला मतलब एग्जाम से है सरकार जब एग्जाम कराएगी तो मन मारकर भी एग्जाम देने जाएंगे इसके बावजूद छात्रों और राजनीतिक दलों के छात्र संगठनों द्वारा इस परीक्षा को रोकने के लिए प्रदर्शन किए जा रहे है। लेकिन फिर भी सीट पाने के चक्कर मे छात्रों द्वारा एग्जाम देने के लिए एडमिट कार्ड डाऊनलोड किये जा रहे है। चूंकि ये दोनों एग्जाम भारत भर में होते है और एग्जाम सेंटर अलग-अलग हिस्सों में जाना है इसलिये बिना रेलवे परिवहन के छात्रों को समस्याओं से जूझना पड़ सकता है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com